Shadi Me Sexy Khel – दोस्त की प्यासी भाभी पर तरस आ गया मुझे

Shadi Me Sexy Khel

मेरा नाम हिमेश है मेरी उम्र 23 वर्ष है और राजस्थान के एक छोटे से गाँव से हूँ दोस्तों ये कहानी मेरे और एक दोस्त के बड़े भाई की बीवी के साथ उस रात हुई चुदाई की है, बात आज से 3 साल पहले की है उस वक्त मे और मेरा दोस्त सुरेंद्र एक ही मकान मे रूम लेकर अपनी bsc की तैयारी कर रहे थे, हमारी परीक्षा खत्म हो गयी थी और तीन दिन बाद ही सुरेंद्र की शादी थी। Shadi Me Sexy Khel

सुरेंद्र मुझे अपनी लास्ट परीक्षा खत्म होते ही अपने साथ गाँव ले गया। वहाँ जाकर हम दोनों मिलकर उसकी शादी की तैयारी मै लग गया बहुत सारे मेहमान आने शुरू हो गए थे, मस्त मस्त लड़कियाँ औरतो को देख कर मेरा लंड खड़ा होकर सलामी देने लगा था पर सारी दोस्त के रिलेशन में थी तो मे अपनी इच्छा मन मै दबाकर रह जाता किसी से कुछ मजाक भी नही कर पाया।

लेकिन कहते है की ऊपर वाला जब भी देता है छप्पर फाड़ के देता है और यहाँ भी ऐसा हुआ दरसल मेरे दोस्त की एक भाभी मुझे जिस दिन से मै आया था वहाँ घूरे जा रही थी। उसका नाम प्रिया था और उसकी मेरी प्रति ये दिवानगी का कारण था उसकी एक गलतफहमी। हुआ ये की सुरेंद्र के सारे दोस्तों की शादी में दारू सिगरेट से लेकर सब तरह की सेवा करने की जिम्मेदारी मेरी थी.

तो सुरेंद्र ने लगभग 8 से 10 हजार रुपये मुझे दे दिये और में इनसे गुल्छरे उड़ा रहा था। और मेरी इस हरकत से प्रिया ने मुझे किसी अमीर घर का लड़का समझ लिया जबकि मै एक थोड़ा दुबला पतला था पर यकीन मानो सारे शरीर का ताकत इस हथियार मै रखता था।

मस्त हिंदी सेक्स स्टोरी : ब्यूटी खान की गुलाबी पेंटी गीली हो गई

हल्दी की रस्म के दिन प्रिया ने सुरेंद्र के साथ मेरे भी हल्दी लगा दी और मुझसे कहा की तु भी दुल्हा बन जा हल्दी लगा कर क्या पता कोई दुल्हन तेरा भी इंतजार कर रही हो उसका इशारा खुद की तरफ था। मे उसकी भावनाओ को समझ चुका था प्रिया गोरे रंग की कम से कम 23 से 24 वर्ष की होगी 14 वर्ष की आयु मै ही उसका विवाह कर दिया था।

में भी प्रिया की तरफ आकर्षित हो रहा था क्युकी मै अभी तक किसी की चूत की चुदाई करने की बात तो छोड़ो चूत ही नही देख पाया था सिर्फ मुठ्ठ लगा कर (हस्तमैथुन) करके अपना लंड शांत कर लेता था। पर मै दरसल इस भय से प्रिया से ज्यादा नही बोल रहा था की कहीं सुरेंद्र को हमारे बारे पता लगा तो क्या कहेगा कि जिस थाली मै खाया उसी मे छेद कर दिया।

लेकिन मे खुद को ज्यादा दिन तक नही रोक पाया शादी से एक दिन पहले की बात थी मैंने और प्रिया ने उस दिन खूब सारी बाते की उसने मुझे अपनी दुःखद कहानी सुनाई की उसकी बचपन मै शादी हो गयी पति एक नम्बर का नालायक और निकम्मा था जब उसकी जवानी के दिन आये तब उसका पति नशे का आदि हो गया और अब तक है उसके साथ मारपीट करता है, वो रोने लगी.

मै यह सुनकर तरस खा गया और उससे अब मित्रवत रहने लगा। उसने मुझे बताया की आप मुझे बहुत पसंद हो। शाम के समय उसने सब के सामने मुझे जबरदस्ती अपने साथ नचाया मुझे भी बड़ा मजा आया। फिर अचानक लाइट चली गयी सब वहाँ से चले गये अचानक उसने मेरा हाथ पकड़ा और सीढ़ियों की तरफ ले गयी और एक दम से अपने होठ मेरे होठो पे रख कर किश करने लगी।

चुदाई की गरम देसी कहानी : बारिश हो रही थी मेरा बेटा मुझे चोद रहा था

मुझे कुछ समझ नही आ रहा था अचानक ये सब हो गया था। पर ये मेरी जिन्दगी का पहला चुम्बन था मै शब्दो में नही बता सकता मुझे कितना मजा आ रहा था वो कभी मेरे उपर के होठ को दबा कर चूस रही थी कभी नीचे को। और उसकी वो लिपस्टिक की सुगंध मुझे दिवाना बनाये जा रही थी.

मै बिल्कुल उसके शरीर से लिपट गया मेरा लंड खडा होकर तन गया मैंने उसे उसके लहंगा के उपर उसकी चूत पे रगाड़ना शुरू कर दिया। दोनों हाथ उसके सेब जैसे बूब्स को दबा रहे थे। 5 मिनट बाद वो अलग हुई और बोली शायद कोई आ रहा है अपने होंठो को पोंछ लो। बोली मजा आया मै बोला बहुत अब तुम बहुत पसंद हो मुझे।

अगले दिन उसके पति को मुझ पर शक हो गया मैं चौकन्ना रहने लगा। दरसल फेरे आज रात ही के समय पर थे और बारात का स्वागत सुबह का था इसलिए घर के सभी सदस्य तो आज शाम को ही जाने लगे दुल्हा के साथ ही मै भी दोस्त था तो मुझे भी तैयार होना पड़ा पर उस प्रिया ने मेरे जूते और कपड़े कहीं छिपा दिये और मुझे रोकने लगी फिर में लेट हो गया और नही जा पाया।

रात हो चली थी परीवार की सभी लुगाइयाँ अपने नेक जोक और कार्य कर रही थी मै अकेला मर्द था मुझे थोड़ी शर्म आ रही थी क्योकि हमारे यहाँ एक रिवाज है की दुल्हा के जाने के बाद उसकी भाभी और सभी लुगाई आपस मे दुल्हा दुल्हन बनकर खेल खेलती है। और आज खेल मै वो औरत्ते अपनी चूत और अपने स्तन रगड़ रही थी मे छत पर बैठा देख रहा था।

मस्तराम की गन्दी चुदाई की कहानी : सर लाइब्रेरी में मेरी चूत में ऊँगली घुसाने लगे

प्रिया ने मुझे बताया की नीचे तो सभी स्त्रियाँ और कुछ रिस्तेदार है तुम रात को 1 बजे छत के उपर मिलना आज वही मिलते है। में समझ गया उसकी चूत मे आग लगी थी और मुझे भी पहली बार चूत चोदने को मिल रही थी वो भी सुंदर सुशील घोड़ी जैसी गांड वाली औरत की। मे छत पर ही सो गया वो 10 मिनट लेट आई आते ही हमने ईधर उधर देखा सब सोये हुए थे.

फिर वो मेरे बिस्तर पर पास मै लेट गयी और बोली चोदेगा या kiss करेगा। मै बोला गंगा दर्शन ही नही नहाना भी है। फिर हम दोनो एक दूसरे को लेट कर kiss करने लगे इतने में वो पलट कर मेरे उपर चढ़ गयी। प्रिया ने नीला लहंगा और उसी की मैचिंग का नीले रंग की ओढ़नी जिसे लूगडी कहते है पहन रखी थी। “Shadi Me Sexy Khel”

मैंने उसे एक तरफ हटा दिया। सफेद ब्लाउज के अंदर एक काले रंग की ब्रा पहन रखी थी जो दूर से ही उसके ब्लाउज के उपर के दो बटन खुलने से नजर आ रही थी। मैंने उसकी पीठ को सहलाते हुए उसकी गांड पर हाथ फेरा और लहंगा ऊपर किया जो यहाँ प्राय ढीला ही पहना जाता है.

जैसे ही मैंने ऊँचा किया उसकी मोटी गांड बिल्कुल नंगी थी और मोटी और मुलायम थी में उस पर जोर जोर से पीटने लगा वो बोली धीरे धीरे कर कोई जग जायेगा ये कौनसा तरीका है हमने तो आज तक गाँव मै ऐसा नही देखा मे बोला अंग्रेजों वाली चुदाई है। वो अभी भि मुझे kiss करने मे मस्त थी।

अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरीज : वर्जिन क्लासमेट के गोरे स्तन पर काले तिल

मै उससे पूछा पेंटी नही पहन रखी लहंगे के अंदर बोली पहले से ही फूल मूड था तो उंगली कर के सहला रही थी तभी तो तेरे जूते छिपा कर रोका तुझे। अब मैंने उसके लहंगे का नाडा खोल कर उसको नीचे से नंगा कर दिया उसकी चिकनी चिकनी गोरी जांघ चूत और कुल्हे मुझे दिख रहे थे मै उनको मसल रहा था।

अचानक उसने मेरी पेंट और अंण्डर वियर उतार दी मेरा मोटा लंबा लंड उसके सामने था उसने झट से अपने मुँह मै लेकर चूसना शुरू कर दिया और 5 मिनट बाद ही उसके मुह मै ही मे झड़ गया वो बोली पहली बार है मैंने हामी भरी बोली कोई ना फिर से खड़ा कर दूँगी।

थोड़ी देर तक हम ऐसे ही लेट रहे फिर उसने अपने सारे कपड़े उतार दिये। और अपने दोनों मोटे बूब्स मेरे सामने थे मैं उनको बारी बारी से चूण्स रहा था और दबा रहा था वो मेरा लंड हाथ मै लेकर हिलाने लगी फिर अपने मुह मै लेकर चूण्स ने लगी। मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया था। “Shadi Me Sexy Khel”

उसने अपनी दोनो टांग खोल कर मुझे उपर चढ़ने को कहा फिर मैंने हाथ से पकड़ कर अपना लंड का अग्रिम हिस्सा चूत पर रखा वो अंदर नही जा रहा था । प्रिया बोली मै करती हूँ रुको उसने अपने मुह मै लंड लेकर उस पर थूक लगा कर अपना हाथ से अपनी चूत पर रख कर कहा अब धक्का दे सर सराता मेरा लंड किसी सांप की तरह बिल मे घुस गया.

कामुकता हिंदी सेक्स स्टोरी : तलाकशुदा गर्लफ्रेंड साथ सेक्स का आनंद

मै जोर जोर से धक्के दिये जा रहा था वो नीचे से आह भर रही थी और बोली और तेज कर मैंने स्पीड बढा दी। मुझे परम आनंद मिल रहा था। ख्च ख्च की आवाज मेरा जोश बढ़ा रही थी। फिर वो मेरे उपर बैठ कर लंड अपनी चूत मे लेकर मेरे उपर फुदकने लगी यह मेरा सबसे ज्यादा मजेदार चुदाई का पल था।

थोड़ी देर बाद मैंने उसे घोड़ी बना कर चोद ने लगा। मुझे करीब 20 मिनट हो चुके थे, मै उससे बोला वीर्य निकलने वाला है वो बोली वापस लेट कर मेरे उपर चढ कर अंदर छोड़ दे। मैंने ठीक वैसे ही किया अपना सारा माल अंदर छोड़ कर मे सो गया कुछ देर बाद हमने खूब एक दूसरे को kiss किया और vo अपने कपड़े पहनकर चली गयी। अगले दिन मै बारात मे गया और वहा से सीधा घर आ गया। तो कैसी लगी मेरी कहानी दोस्तो.

दोस्तों आपको ये Shadi Me Sexy Khel की कहानी मस्त लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और Whatsapp पर शेयर करे…………


Leave a Reply