Indian Family Sex Kahani – पापा दिन में मुझे रात में मम्मी को चोदते


Indian Family Sex Kahani

मेरी मम्मी से ज्यादा मेरा बाप मेरे में इंटरेस्ट लेता है चुदाई करता है और मेरी चूचियां खूब दबाता है। मम्मी को गांड मारता है और मेरी चुत में ज्यादा दिलचस्पी दिखाता है। माँ की गांड टाइट है और मेरी चूत इस वजह से दोनों को खुश करता है। मैं भी खूब मजे ले रही हूँ। अब मैं सीधे कहानी पर आती हूँ। Indian Family Sex Kahani

मेरा नाम तृप्ति है मेरी मम्मी का नाम सरिता है। मैं अठारह साल की हूँ। मेरी मम्मी छतीस साल की है। मेरी मम्मी का ये दूसरी शादी है पहले वाले पापा दूसरी शादी कर लिए वो मेरे ही घर की नौकरानी से उनका जिस्मानी रिस्ता हो गया और अब वो उसी के साथ रहते है।

क्यों की वो लड़की यानी की नौकरानी अठारह साल की है। तो दोस्तों किसी को भी टाइट चूत और मस्त चूचियां मिल जाये तो वो क्या करेगा वो तो पुराना माल को छोड़ ही देगा। यही हुआ मेरे परिवार के साथ। अब वो नौकरानी रानी बन कर रह रही है।

पर मम्मी ने भी दूसरी शादी कर ली और मैं और मम्मी दोनों नए घर में आ गए है। मेरे नए पापा मम्मी से छोटा है और मेरे से बड़ा यानी की मेरी माँ और मेरा बाप दोनों को नया माल मिल गया है इसलिए दोनों ज़िंदगी का एस कर रहा है। और सच तो ये है की मैं भी आजकल खूब लंड के मजे ले रही हू।

मस्त हिंदी सेक्स स्टोरी : Maa Ki Chut Me Jhatke Dene Laga Madharchod Beta

मुझे ये चस्का मम्मी की चुदाई को देखकर ही लगा है। मैं रोजाना मम्मी को मोअन करते सुनती थी। जब मेरे नए पापा मम्मी को चोदते है तब वो खूब आह आह आह आह ओह्ह ओह्ह्ह ओह्ह करती है। यही सब सुनकर मुझे भी चुदने मन करने लगा और फिर मैं भी चुदने लगी।

दोस्तों मेरी मम्मी नर्स है। वो एक हॉस्पिटल में काम करती है। सुबह वो नौ बजे चली जाती है और फिर शाम को करीब आठ बजे तक आती है। आजकल कोरोना चल रहा है तो वो कई बार नहीं भी आ पाती है। पापा मेरे घर से ही काम करते है वो सॉफ्टवेयर डेवेलपर है।

मैं घर में ही हूँ आजकल ऑनलाइन क्लासेस चल रहे है तो घर पर ही रहना होता है। इसलिए शाम को मम्मी होती है पापा के साथ और दिन में मैं होती हु। मम्मी तो रात में चुदती ही है पर मुझे उनको पटाने में और उनको मेरी चूत तक आने में थोड़ा समय लगा गया।

एक दिन की बात है। मैं इस वेबसाइट पर चुदाई की कहानियां पढ़ रही थी। तभी पापा मुझे देख लिए क्यों की मैं उस समय अपनी चुत में ऊँगली कर रही थी और मेरी चूचियां बाहर थी क्यों की कभी कभी चूचियां मसलती और कभी चुत में ऊँगली करती।

चुदाई की गरम देसी कहानी : रानी पेलवाने के लिए तैयार हो जाओ

और मैं काफी ज्यादा कामुक हो गई थी। तो मेरे से बर्दास्त नहीं हो पाया और मैं मुँह से आह आह आह की आवाज निकल दी। मुझे ये होश ही नहीं रहा था की पापा भी घर पर हैं तो वो आ गए और मुझे देख लिए।

वो सभी बातों को समझ गए की मैं क्या कर रही थी। वो कमरे में आकर देखे तो मैं सेक्स स्टोरी पढ़ रही थी। और मैं पसीने पसीने थी क्यों की मेरी चुत गीली हो गयी थी और और मेरी चूचियां टाइट हो गयी थी मेरे होठ सूखे हुए थे।

मेरी आँखे लाल हो गयी थी। मैंने उनको अपनी नशीली आँखों से देखि मानो की मैं उनको अपने पास बुला रही हु। उन्होंने बोला मैं तुम्हारी मदद करूँ? तो मैंने उनका हाथ पकड़ा लिया और अपने पास बैठा लिया। वो बोले मम्मी को तो नहीं बोलेगी? मैं ना में सर हिला दिया।

वो मेरी चूचियां पकड़ लिए और हौले हौले से दबाने लगे। तभी मैं अपने दांत से अपने होठ को काटने लगी। उन्होंने अपना ऊँगली मेरे होठ पर रख दिए। मेरे बाल बिखरे हुए तो उन्होंने ऊपर कर दिया और गाल को छूते हुए बोले। क्या चीज हो तुम।

मस्तराम की गन्दी चुदाई की कहानी : Kajal Ki Panty Sungh Kar Muth Marta Tha Main

तेरी मम्मी को चोदता हु तो तुम्हारी याद में। तुम्हे याद कर कर के मैं चोदता हूँ। तुम बहुत ही हॉट हो और सेक्सी हो। आज मुझे तुमने ये मौक़ा दिया ये मेरे ज़िंदगी का सबसे बेहतरीन पल होगा और हमेशा यादगार रहेग।

और उन्होंने मेरे कपडे उतार दिए। और मेरे ऊपर चढ़ गए। मेरी चूचियों को पहले खूब मसला और फिर उन्होंने मेर होठ को चूसने लगे। मेरे गुलाबी होठ को चूसते चूसते अपना जीभ मेरे मुँह में डाल दिए। मै काम विभोर हो गयी। मेरी चुत से पानी निकलने लगा और वो मेरे शरीर को सहलाने लगे।

मेरे होठ सूखने लगे। जैसे ही उन्होंने अपनी ऊँगली मेरी चूत में डाली मैं पागल हो गयी उनका हाथ पकड़ लिया। और अपने तरफ खुश कर चूमने लगी। और उनको अपनी आगोश में ले ली। उन्होंने मेरे ऊपर से निचे तक जीभ फिरा दिए। और बाद में मेरी चूत पर जाकर रुके और फिर अपने जीभ से चाटने लग्गे।

मैं पागल हो गई थी। मैं तुरंत ही अपने पैरों को अलग अलग कर दिया और उनको चोदने के लिए आमंत्रित कर दिया। वो ,मोटा लौड़ा निकाल मेरी चूत पर लगाए और जोर से पेल दिए। मेरी आँख में आंसू आ गया था दर्द से उसके बाद उन्होंने मेरी चूचियां सहलाई किश किया और धीरे धीरे लंड आगे पीछे करने लगे।

अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरीज : Bhabhi Ki Sex Ki Bhukh Mitai Maine

मैं जोश में आ गई थी दर्द ख़तम हो गया था और मैं उनसे चुदवाने लगी। जोर जोर से वो धक्के देते और मैं निचे से गांड हिलाती। वो कहते तेरी चूत बहुत टाइट है तेरी मम्मी का गांड टाइट है। अब मैं तुम्हारी मम्मी को गांड मारूंगा और तुम्हारी चुत मैं बोल दी। अब तो सब कुछ आपका है चाहे मेरी गांड या मेरी चूत या मेरी मम्मी का गांड या मेरी मम्मी का चूत।

दोस्तों उन्होंने मुझे एक घंटे तक खूब चोदा। कभी बैठकर कभी लेटकर कभी खड़े होकर। खूब लिए उन्होंने मेरे जिस्म को। अंत में उन्होंने सारा वीर्य मेरी मुँह में डाल दिया। और मैं चाट गय।

उन्होंने फिर मम्मी की कहानियां बताये की वो कैसे मेरी मम्मी को चोदते है और क्या क्या करते है मेरी मम्मी को क्या क्या पसंद है उन्होंने सब कुछ बताय। अब दिन में मुझे चोदते है जब मम्मी काम पर जाती है फिर वो रात में मम्मी के साथ एंगेज हो जाते है। मैं खुश हूँ मजे ले रही हूँ। 

दोस्तों आपको ये Indian Family Sex Kahani मस्त लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और Whastapp पर शेयर करे……..

Leave a Reply