Indian Club Sex – औरतों को सेक्स में पूरी तरह से संतुष्ट कैसे करे


Indian Club Sex

नमस्कार! पहले ही बता देता हु अगर कोई लड़की इस कहानी को पढ़ रही है तो अच्छा होगा की आप लोग इसे अकेले मै पढ़े क्युकी कहानी मै कुछ ऐसी घटनाये है जो आपको पूरी तरह से उत्तेजित और आपकी चूत को पूरी गीली कर सकती है . तो सबसे पहले मै अपना परिचय देता हु| मेरा नाम अमन है और ये मेरी पहली कहानी है| Indian Club Sex

मेने चुदाई तो कई लड़कियों की करी है लेकिन मैंने सोचा अब मुझे एक के बाद एक सारी कहानिया यहाँ डालना चाइये| ये कहानी उस घटना की है जब मेने नए साल की रात को एक खूबसूरत महिला की चूत को चोद कर उसकी प्यास बुझाई थी| तो शुरू करते है | मेरा जनम इंदौर मै हुआ है लेकिन फ़िलहाल नौकरी के सिलसिले मै पुणे रहता हूँ |

मै एक आईटी फर्म मै मार्केटिंग मैनेजेर हूँ. मेरा स्वभाव एक दम मस्त मौला जैसा है, जिसे कोई टेंशन ही ना हो. मै रंग से गोरा, कद मै थोड़ा छोटा हूँ. मेरा लंड एकदम कसा हुआ फनफनाता सांप जैसा ७ इंच लम्बा और ३ इंच मोटा है. मेरा सुपारा बोहोत मोटा है जिसकी वजाह से लड़कियों को मेरे साथ चुदाई मै बोहोत मज़ा आजाता है |

मै एक ऐसा लड़का हूँ जिसे सम्भोग मै सिर्फ चुदाई मै मजा नहीं आता | मै मानता हूँ कि अगर चरमसुख कि प्राप्ति ना हो तो सम्भोग मै कोई मज़ा नहीं| मै जब भी सेक्स करता हूँ मेरी बोहोत सारी इच्छाएं होती है जैसे कि चूत को गहरायी तक चाटना, चूत चाट चाट कर लड़की को झडा देना, चूत के दाने को जुबान और उंगलियों से छेड़ना, लड़की के मुँह मै अपना मुठ छोड़ना, अलग अलग सेक्स पोसिशन्स ट्राई करना, 69 का मज़ा लेना, BDSM मै चुदाई करना, और भगवान के आशीर्वाद से मेरा मुठ भी जल्दी नहीं निकलता |

मेरी इन्ही खूबियों कि वजाह से लड़किया मुझपे फ़िदा होजाती है और बार बार चुदाई करने का मौका मिल जाता है| तो ये बात है 31 दिसंबर 2019 कि, सब जगह नई ईयर कि पार्टी का जश्न था लेकिन मै अपने घर पे अकेला था क्युकी मेरे सरे दोस्त अपने अपने घर गए हुए थे.

मस्त हिंदी सेक्स स्टोरी : Jija Ke Sath Honeymoon Ka Mazza Mil Gaya

मुझे लग रहा था कि इस बार तो अकेले ही मानना पड़ेगा लेकिन फिर मेरे ध्यान मै आया कि मै किसी क्लब मै जा के मज़े कर सकता हूँ तो मैंने तुरंत एक अच्छे क्लब का VIP पास लिया और जाने के लिए तैयार हो गया| मै अक्सर VIP एंट्री ही लेता हूँ इससे दो फायदे होते है, महंगी शराब मिल जाती है और लम्बी लाइन मै खड़ा नहीं होना पड़ता|

अब मै क्लब मै पंहुचा और सबसे महंगी वाली शराब आर्डर की| मुझे महंगी शराब का बहुत शौक है| अब मेरे लिए सारी शराब फ्री थी तो मेने कब ६ से ७ पेग्ग बिना कुछ मिलाये पी लिए मुझे पता ही नहीं चला| अब मुझे थोड़ा थोड़ा सुरूर चढ़ने लगा था अब मुझे वाशरूम जाना था और क्लब मै सिर्फ एक ही वाशरूम था जो लड़का लड़की दोनों के लिए था|

अब हुआ ये की मुझसे पहले एक लड़की वाशरूम जा चुकी थी लेकिन वह दरवाज़ा बंद करना भूल गयी और मुझे लगा की अंदर कोई नहीं है| मै सीधे अंदर घुस गया और दरवाज़ा लगा दिया | अब जैसे ही मैंने अंदर का केबिन खोला , मेरी आँखे खुली की खुली रह गयी| मेरे सामने एक लाल वन पीस मै महिला पेशाब कर रही थी| हम दोनों की नज़र एक दूसरे पे पड़ी|

मै तो उसे खुली आँखों से देखता ही रहा फिर एक दम से मुझे ख्याल आया की ये मैंने क्या करदिया तो मैंने तुरंत सॉरी बोल के गेट लगा दिया| लेकिन मै भी पक्का हरामी हूँ, मै वाशरूम से निकला नहीं, वही नल से हाथ धोने लगा | अब वो बाहर आयी तो मैंने तुरंत उसे सॉरी बोला| वो बोली कोई बात नहीं मैंने ही गलती से दरवाज़ा खुला छोड़ दिया था|

अब वो मेरे सामने खड़ी थी| कसम से क्या लग रही थी | उसकी उम्र कुछ 35 साल थी | काले लम्बे बाल , कसा हुआ जिस्म , बड़ी नशीली आँखे, गोरा बदन, उसका गोरा पन देख कर मुझे लगने लगा था की इसकी चूत जरूर गुलाबी होगी | उसके दूध भी इतने बड़े थे की हाथ मै ही ना आये | वो अपनी ड्रेस सही कर रही थी और मै उसे देखे जा रहा था |

अब मेरा लंड खड़ा होरा था और वो साफ़ साफ़ मेरी जीन्स मै से दिख रहा था | वो मेरी तरफ देखी फिर एक बार नीचे देखी फिर मुझसे बोलती , तुम्हे अपने कपडे एडजस्ट करना हो तो कर सकते हो केबिन खाली है | मैंने बोला नहीं ठीक है , फिर वो बोली लोग गलत समझेंगे तुम्हारी जीन्स मै से कुछ बाहर आना चाहता है |

मै फिर होश मै आया हाथ से खड़े लंड को छुपाया और शर्मा के सॉरी बोला, वो बोली कोई बात नहीं| फिर मेने उससे पूछा की तुम यहाँ अकेली हो या किसी के साथ आयी हो, वो बोली एक डेट के साथ आयी हूँ लेकिन वो बोहोत ज़्यादा बोरिंग है. मैंने बोला वैसे तुम मेरे साथ चल सकती हो, मै अकेला हूँ | और मै बोरिंग भी नहीं लगूंगा|

वो बोली लेकिन इस वक़्त चलेंगे कहा, मैंने बोला मेरा घर पास मै है और मेरी गाड़ी भी पार्किंग मै है, हम घर चल के शराब पी सकते है क्युकी घर भी पूरा खाली है | वो मान गयी , मै उसे गाड़ी मै बैठा के घर ले गया और एक ठेके से मैंने पूरा खम्बा ले लिया | अब हम घर पहुंचे, मैंने उसे एक ढीली शर्ट देदी और हम दोनों कपडे चेंज करने के लिए अलग कमरे मै चले गए|

मैंने अपने कपडे उतार दिए और आईने मै देख कर लोडे को बोलने लगा की अब तो खुश है ना आज तुझे गुफा मिलने वाली है| मै बिना कपड़ो के खड़ा ही था की वो मेरे कमरे मै घुस आयी और मेरे लंड का नज़ारा देख लिया | वो नज़र हटा के बोली ये अभी तक शांत नहीं हुआ? मै थोड़ा सा हस दिया, मैंने तुरंत कपडे पहने और हम दोनों बालकनी मै आगये|

चुदाई की गरम देसी कहानी : लंड पर थूक लगा कर चोदा ताई जी को

मैंने बालकनी को मस्त लाइट्स से सजा के रखा था | अब हम बोतल खोल के शराब पीने लगे | मैंने उससे नाम पूछा तो वो बोली कल्पना , फिर मैंने उसके बारे मै पूछा तो उसने बताया की वो शादीशुदा थी और उसने तलाक ले लिया है क्युकी उसका पति उसे टाइम नहीं देता , फिर उसने मेरे बारे मै पूछा और मेने भी अपने बारे मै बता दिया |

अब रात के १२ बज चुके थे तो हमने चियर्स करके एक दूसरे को नया साल विश किया और गले लग लिए | वो इतनी गर्म थी की मुझे उससे अलग होने की इच्छा ही नहीं हुई | मैंने पूछा आपका जिस्म इतना गरम क्यों होरा है वो बोली शराब के बाद ऐसा होता है | फिर उसने मेरी गर्लफ्रेंड के बारे मै पूछा तो मेने उसको बताया एक साल पहले हमारा ब्रेकअप हो चुका है |

फिर मेने सोचा अब टाइम खराब नहीं करना चाइये और मैंने बातो बातो मै बोला की कैसे कैसे लोग है एक मै हूँ जिसे इतने दिन से सेक्स नहीं मिला तो इतना तड़प रहा हु और एक तुम्हारा पति है जिसे इतनी हॉट लड़की से सेक्स मिलता था तो भी छोड़ दिया | वो बोली उसने कभी मुझ चोदा ही नहीं | उसको मर्दानी बीमारी थी इसीलिए मेने उससे तलाक लिया |

मैंने बोला मै मान ही नहीं सकता की आप जैसी हॉट महिला अभी तक नही चुदी हो| वो बोली ये किसने बोला की मै नहीं चुदी , शादी से पहले मेरे बोहोत अफेयर थे| फिर मैंने पूछा की अच्छा ये बताओ की तुमको सेक्स मै सबसे ज़्यादा क्या पसंद है. वो बोली वैसे तो चुदाई पसंद है लेकिन आज तक मेरी चूत को किसी ने शिद्दत से नहीं चाटा, इसीलिए मै चाहती हूँ की कोई मुझे चाट के मेरा रस पी जाये |

मैंने जान बुझ के अंडरवियर नहीं पहनी थी जिससे की मेरा खड़ा लंड साफ़ दिख रहा था | फिर उसने मुझसे पूछा तुम लड़को को तो सिर्फ चूत मै लंड डालना पसंद होता है ना, मैंने बोला सब मेरे जैसे नहीं होते, मुझे तो जब तक चरमसुख ना मिले मै झड़ता ही नहीं हूँ, मुझे लड़की की चूत को गहरायी से चाटना बोहोत पसंद है.

मुझे अच्छा लगता है जब मै उनके दाने को जुबान से छेड़ता हूँ और वो मेरे लंड के लिए तड़पती है, मुझे घोड़ी बना के चोदने मै बोहोत मज़ा आता है क्युकी उसमे लंड गहरायी तक अंदर जाता है, मेरी बातें सुन के उसकी सांसें तेज़ होने लगी| वो उत्तेजित होने लगी थी, मेने सोचा और गरम किया जाये इसे तो मैंने बोला की जब तक मेरी जुबान पे चूत का रस नहीं लगता मै लंड को चूत मै उतरने ही नहीं देता |

वो बोली बस करो वर्ना कुछ हो जायेगा , मैंने बोला हो जाने दो मै तो तैयार हूँ, उसने फिर कण्ट्रोल किया, मै फिर बोला कितना मज़ा आता है जब चूत की दीवार को उंगलियों से फाड़ क दाने को जुबान से सताओ तो, इतना सुनते ही उसने मेरा हाथ पकड़ लिया, मुझे पता चल गया की अब गुफा तैयार है, मैंने सीधे उसके होंठो पे होंठ रख दिए, उसने आँखे बंद कर ली.

और मैं एक प्यासे भवरे की तरह उसके होंठो को चूसने लगा | उसने भी मेरे चुम्बन का पूरा जवाब दिया और मेरे होंटो को जमकर चूसने लगी जैसे सदियों बाद उसे ये मौका मिला हो। अब मैं जब भी होंठ चूसते हुए मेरी आदत है की मैं अपना एक हाथ दूध पे रख के उसे धीरे धीरे मसलता हु इससे लड़की और गरम हो जाती है।

मैंने कल्पना के दूध पर हाथ रख दिया और उसे धीरे धीरे मसलने लगा और होंठ चूसता रहा। अब वो मेरी इस हरकत से बोहोत ज़्यादा गरम हो गयी थी। वो पागलो की तरह मेरे होंठो को चूसने लगी थी। कभी मैं उसके होंठ चबाता कभी वो मेरे। वो इतनी गरम हो चुकी थी वो मुझे चूमते चूमते मेरे मुँह मैं ही कामुक आवाज़ें निकालने लगी थी। “Indian Club Sex

उम्मम्मम्।।।।।। उम्मम्मम्मम उम्मम्मम्मम। उसकी गरम सासें और कामुख आवाज़ें मुझे और उत्तेजित कर रहीं थी। अब मैंने देर नहीं की और मेरा हाथ मैं धीरे धीरे दूध से हटा के पेट पे लाया , उसकी सांसें गहरी होने लगी थी और उसके बाद मैं हाथ उसकी जांघों पर ले गया। अब यहाँ कुछ ऐसा हुआ की मेरा लंड पत्थर की तरह कठोर होगया।

उसने नीचे सिर्फ पैंटी पहनी थी जो बुरी तरह गीली हो चुकी थी। मैंने जैसे ही उसके पैंटी पर हाथ रखा वो हलकी सी उचक गयी और उसकी सांस और भी ज़्यादा गहरी हो गयी। अब मैंने सोचा की आज मैंने अगर इसको चरमसुख दे दिया तो ये मुझे अक्सर चूत देदिया करेगी। मैंने उसकी चूत को पैंटी के बहार से ही सहलाना शुरू कर दिया।

मैं उसकी पैंटी पे उंगलियों को गोल गोल चलाने लगा मानो की मैं उसपे शून्य बना रहा हु। उसने मेरे बालो को पकड़ लिया और मेरे होंठो से थोड़ा दूर होगयी, अब वो धीरे धीरे हवस की शिकार होने लगी थी, उसके मुँह से गरम आवाज़ें आने लगी थी। आअह्ह्हम्म्म्म आह्ह्ह्हह्ह मममममममम उम्मम्मम्म आआह्ह्हह्ह्ह्ह ह्म्मम्म्म्म यस आआह्ह्ह्हह्ह्ह्ह ूउम्मम्मम ।

मस्तराम की गन्दी चुदाई की कहानी : Apne Naukaro Ko Apni Jawani Ka Maza Diya Inam Me

अब मैंने सोचा ये पूरे मेरे काबू मैं है। मैं भी तजुर्बे वाला इंसान हु मैंने एक ऊँगली से उसकी पैंटी थोड़ी सरकाई और फिर अपनी दोनों ऊँगली उसकी गीली चूत पे रख दी। क्या मखमल से भी कोमल चूत थी यारो। और पूरी तरह से गीली होने की वजह से मेरी उंगलिया फिसलने लगी थी। मैंने जैसे ही उसकी चूत पे ऊँगली रखी उसने मुझे जोरो से गले लगा लिया। “Indian Club Sex

मैंने फिर चूत को सहलाना शुरू किया , कभी चूत के दाने को सहलाता तो कभी चूत की दीवारों को फाड़ के बीच मैं ऊँगली रगड़ता, मेरी इस हरकत से वो अब चरम सुख की सीमा पे थी। अब वो थोड़ी ज़ोर से चिल्लाने लगी आआह्ह्ह्हह्ह आआअह्हह्ह्ह्ह और करो आआअह्हह्ह्ह्ह यस बेबी और तेज़्ज़ मज़ा आरा है प्लीज और करो ना जान , और तेज़्ज़ सहलाओ।

हम लोग बालकनी मैं ही बैठे थे और ठंडी मस्त हवाओ ने दोनों को हवस का शिकार बना दिया था। मैंने अब देर नहीं करी और उसकी शर्ट के सारे बटन एक बार मैं खोल के शर्ट को निकल फैंक। उसने भी मेरी टीशर्ट को उतार फेका। अब मैंने उसे वही बालकनी मैं गद्दे पे लिटाया और उसके ऊपर मैं आया।

उसने काली ब्रा पहनी थी और उसके अंदर से उसके सफ़ेद दूध इतने मस्त लग रहे थे। मैंने फिर उसके होंठो पे हल्ला बोला और एक हाथ उसके बाये दूध पे रख दिया और मसलने लगा , वो भी मेरा साथ देने लगी फिर मेने अपने होंठ उसके गले पे रख दिए और जोर जोर से उसको स्मूच करने लगा और मैं अपना हाथ दूध से हटा के उसकी चूत पे ले गया और चूत के दाने को सहलाने लगा। “Indian Club Sex

मैं उंगलियों से चूत के दाने पे शून्य बनाने लगा। उसने मुझे दोनों हाथो से उसकी और जकड लिया , ये सन्देश था की बस अब वो झड़ने वाली है , मैंने सोचा इतनी आसानी से कैसे जानेमन , मैं हट के नीचे आ गया और उसकी पैंटी को उतार दिय। अब उसकी पैंटी बोहोत गीली थी, उसे और उत्तेजित करने के लिए मैंने उसकी पैंटी को उसके सामने सूंघ के साइड मैं रख दिया.

और धीरे से मैं अपना चेहरा उसकी चूत की और ले गया, अब मैंने धीरे धीरे उसकी जांघो को चूमा लेकिन उसकी चूत को नहीं छुआ. अब वो होश मैं नहीं थी, उसने मेरे बाल पकड़ मेरा मुँह उसकी चूत पे लगा दिया और चूत की और दबाने लगी , मैंने पहले होंठो से उसकी दीवारों को छेड़ा फिर ज़ुबान निकाल के सबसे पहले उसकी चूत से टपकते रस को पूरी तरह से चाटा.

वो मेरे बाल ज़ोर से खींचने लगी थी, और उसके मुँह से गरम आवाज़ें और ज़ोर से निकलने लगी थी, आआअह्ह्ह्हह्ह्ह्हह आआआआह्ह्ह्हह्ह्ह्ह सही जारे हो जान आआह्ह्ह्ह और चाटो. मैंने पूरी तरह से उसका रस चाट मारा लेकिन वो इतनी गरम थी की उसकी चूत रस छोड़े जा रही थी.

मैंने अब दो उंगलियों से उसकी चूत को खोला और ज़ुबान बीच मैं रख के ऊपर से नीचे तक चाटना शुरू कर दिया. वो हवस मैं होश खो बैठी थी, मेने ५ से १० मिनट तक उसकी चूत के छेड़ को पूरी गहराई तक चोदा, और उसके रस को पीया। अब बारी थी उसके दाने की , मैंने जैसे ही अपनी ज़ुबान उसके दाने पे रखी. “Indian Club Sex

वो कपकपा उठी और उसके मुँह से ज़ोर से निकला आआआहहहहहहह मादरचोद, मारेगा क्या बहनचोद। मैंने ज़ुबान से उसके दाने को ज़ोर ज़ोर से चाटना शुरू किया और वो मुझे गाली बकती रही। उसकी गालिया मुझे और गरम कर रही थी, मैंने २ मिनट तक उसके दाने को चाटा.

उसके बाद एक दम से उसकी आवाज़ तेज़्ज़ होगयी आआआआह्ह्ह्ह उम्मम्मम्म आआह्ह्ह्हह्ह और तेज़ न जान और तेज़्ज़ चाटो अपनी रांड को, आआआहहहहह आआआअह्हह्ह्ह्हह यस यस आआआहहहहह. मैं समझ गया की अब ये कुतिया झड़ने वाली मैंने अपना अंगूठा उसके दाने पे रख दिया और ज़ुबान छेद पर ले आया क्युकी मैं उसका रस पीना चाहता था.

मैंने अंगूठे से उसके दाने को तेज़्ज़ तेज़्ज़ छेड़ा और वो आआआआह्ह्ह्हह्ह आआआह्ह्ह्हह्ह करके मेरी ज़ुबान पर झड़ गयी। क्या मस्त गरम नमकीन चिप चिपा रस था उसका। उसने खूब सारा रस निकला और मैं एक प्यासे की तरह पूरा चाट के पी गया। अब बारी थी मेरे लंड की, तो उसने मुझे धक्का दिया और नीचे लिटाया और मेरे ऊपर खुद आगयी.

अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरीज : विधवा की तन की आग को बुझाया मैंने

उसने इस बार किस मै समय नहीं गवाया, सीधे नीचे आयी और एक झटके मै मेरे शॉर्ट्स उतार दिए. अब लंड इतना कड़क और खड़ा था की जैसे ही शॉर्ट्स उतरे वो आज़ाद होगया. ये देख कर वो थोड़ी हसी और फिर मेरी आँखों मै देख कर लंड को हाथ मै पकड़ा और धीरे धीरे सहलाने लगी, मेरे मुख से आआह्ह्ह्हह निकल गया, सच बता रहा हु दोस्तों इतना मज़ा आया कि क्या बताऊ। “Indian Club Sex

उसने मेरे टोपे कि चमड़ी को नीचे किया और तेज़ तेज़ हिलाने लगी, मै समझ गया कि ये पुरानी खिलाडी है. मैं आँख बंद करके मज़ा लेने लगा, फिर उसने मेरे लंड पे थूक दिया और फिर हाथ से पूरे लंड को गीला कर दिया। मेरा लंड इतना कड़क हो चूका था कि उसकी नस साफ़ साफ़ दिखने लगी थी.

अब धीरे से वो अपना मुख मेरे लंड के पास लायी और ज़ुबान से मेरे टोपे को चाटने लगी, आआह्ह्ह्हह्ह क्या एहसास था वो दोस्तों, पूरी ज़ुबान को टोपे पर चलाने लगी और एक झटके मै बिना बताये उसने मेरा पूरा लंड अपने मुँह मै भर लिया। मुझे गर्माहट का इतना अच्छा एहसास हुआ.

फिर उसने जो मेरा लंड चूसना चालू किया कि मेरे मुँह से आवाज़ें निकले लगी, वो एक प्रोफेशनल कि तरह मेरे लंड को चूसती गयी और मेरे लंड से निकले रस को पीती गयी। और मै आआह्ह्ह्हह्ह आआअह्ह्ह्हह्ह्ह्ह उम्मम्मम आआह्ह्ह्हह करता गया, फिर कुछ ऐसा हुआ कि मेरी रात सफल होगयी.

वो चूसते चूसते उलटी होकर मेरे ऊपर आ गयी और मेरे मुँह पर उसने अपनी चूत रख दी, मैंने बिना सोचे उसे चाटना शुरू कर दिया. वो फिर से गीली हो चुकी थी, मैंने उंगलियों से चूत को खोल कर ज़ुबान को हलके से उसके छेद मै दाल दिया उसने मेरे लंड को हलके से काटा, जो मुझे बोहोत पसंद आया. “Indian Club Sex

अब मैं अपनी ज़ुबान से उसे चोद रहा था, और वो मेरे लंड को चुदाई के लिए तैयार कर रही थी, आख़िरकार वो टाइम आ ही गया जब हम दोनों मस्त चुदाई के लिए तैयार थे| हमे कुछ बोलने कि ज़रूरत ही नहीं पड़ी वो तुरंत उठ के मेरे पास लेट गयी और मै उसके ऊपर आया उसकी जांघो को फैलाया.

उसकी चूत पूरी गुलाबी हो चुकी थी, दोनों के अंग इतने गीले थे कि कुछ लगाने कि ज़रूरत ही नहीं पड़ी. मेरे घर मै कंडोम पड़ा था लेकिन मै जान बुझ के नहीं लेकर आया क्युकी बिना कंडोम के ही मज़ा है और मुझमे कला है कि मै झड़ने से पहले लंड निकाल लेता हु. अब मेने उसकी जांघ फैलाई और उसकी चूत पर अपना लंड रखा और उसकी लकीर पर लंड को रगड़ने लगा.

और धीरे से मैंने लंड को चूत के अंदर सरका दिया, अब जैसे मैंने बताया था कि मेरा टोपा मोटा है तो जैसे ही टोपा चूत मै घुसा वो मस्ती मै चिल्ला उठी आआह्ह्ह्हह्ह्ह्हह. अब मेने दूसरे धक्के मै पूरा लंड अंदर सरका दिया, वो खूब चुदी थी इस वजह से उसकी चूत थोड़ी ढीली थी, ज़्यादा नहीं बस थोड़ी सी, इतनी कि लंड आसानी से घुस जाये.

अब मै घुटनो के बल था और वो मेरे सामने लेटी थी, मै उसे मिशनरी मै चोदने लगा. वो आआअह्ह्ह्हह्हह आआह्ह्ह्हह्ह आआह्ह्ह्हह्ह जान आआह्ह्ह्हह्ह आआह्ह्हह्ह्ह्ह बेबी फ़क मी आआअह्हह्ह्ह्ह चिल्लाने लगी. मै अपनी गति बढ़ा दी, उसने अपने हाथ अपने सर पर रखे और आँख बंद करके आआअह्ह्ह्हह्हह आआआह्ह्ह्हह्ह आआआआह्ह्ह्हह्ह आआआआह्ह्ह्हह्ह आआआआहहहहह चिल्लाने लगी. “Indian Club Sex

अब रात मै सिर्फ उसकी आवाज़ गूँज रही थी पूरे घर मै, मै अब उसके ऊपर लेट गया. उसने पैर मुझसे लिपटा लिए और फिर मै उसकी चुदाई करने लगा, अब मेने उसको गाल पे जोर से काटा. उसको मज़ा आने लगा वो बोली और काटो मुझे, निशान बना दो आआआअह्ह्ह्हह और काटो, मेरे दूध पे काटो आआह्ह्हह्ह्ह्ह.

मैंने फिर उसके दूध पे काटा, वो मस्त हो चुकी थी , वो बोली साले पहले क्यों नहीं मिला तू, कबसे इंतज़ार था तेरे जैसे का आआअह्ह्ह्हह्हह चोद आआह्ह्ह्हह्ह | मुझे पता चल गया था ये इतने जल्दी झड़ने वालो मै से नहीं है, मै अपनी स्पीड और तेज़ कर दी. इसी के साथ उसकी चिल्लाने कि आवाज़ भी तेज़ होगयी.

अब मैंने उसे अपनी गोद मै उठाया और लंड चूत मै डाले हुए ही किचन मै ले गया, किचन के प्लेटफार्म पर उसको रखा और मै खड़े होके उसकी चूत मारने लगा. उसने मेरी गांड पकड़ी और तेज तेज चिल्लाने लगी, अब पूरे घर मै उसकी आवाज़ गूंझ रही थी. मैं अपना लंड निकाला, हम इतने गीले थे कि मेरे लंड से रस टपक रहा था, मैंने सीधे अपनी दो ऊँगली उसके चूत मै डाल दी।

और उसके दाने पर ज़ुबान चलाने लगा , उसकी आँखे बंद और मुँह खुल गया उसने मेरे बाल पकडे और चूत से चिपका दिए जैसे वो चाहती हो कि मै उसमे समा जाऊ। मै कुत्ते की तरह अपनी मालकिन की चूत को चाटता रहा. फिर मेने अपने लंड को पकड़ा और उसकी चूत मै घुसा दिया और उसकी चुदाई का सिलसिला फिर चालू होगया.

अब मैंने चोदते चोदते उसके मुँह मै अपना अंगूठा डाल दिया और वो उसे चूसने लगी, अब उसके मुँह से उम्मम्मम्मम्म उम्मम्मम्मम की आवाज़ आ रही थी. मैंने फिर उसे गोद मै उठा लिया और अंदर रूम मै बिस्तर पर पटक दिया. और उसको घोड़ी बनने को कहा, वो बिना देर किया घुटनो के बल होगयी और मेरे सामने चूत खोल दी. “Indian Club Sex

मेने पीछे से आके एक झटके मै पूरा लंड अंदर घुसा दिया, वो चिल्ला उठी आआआहहहहह, अब मेने उसकी कमर पकड़ी और पीछे से तेज़ धक्के मारने लगा. वो आआअह्हह्ह्ह्ह और चोद साले आआह्ह्ह्हह यस बेबी यस सही जा रहे हो, मेरा पानी निकाल दो न. अब वो एक दम से अलग होगयी और मुझे लेटने को बोला.

कामुकता हिंदी सेक्स स्टोरी : दीदी की चूत रोज नया लंड मांगने लगी

मै लेट गया और वो मेरे लंड पे बैठ गयी, और ऊपर नीचे होने लगी, हम दोनों अब आवाज़ निकालने लगे थे, वो एक घुड़सवार की तरह मेरे लंड का सफर कर रही थी. ऐसा लग रहा था की बोहोत दिन बाद उसकी चूत मै लंड गया है, वो अब थोड़ा थक गयी थी तो मेरे ऊपर लेट गयी लेकिन मैं नहीं माना. मैंने उसे पीछे से जकड़ा और नीचे से धक्के मारने लगा.

वो बोली तू बोहोत शानदार है यार सेक्स मै , अब से तेरे साथ ही प्यास बुझाऊँगी, और फिर मै और तेज़ तेज़ धक्के मारने लगा. अब हम दोनों झड़ने वाले थे मैंने और तेज़्ज़ चोदना चालू कर दिया. वो आआआआहहहहहहह aaaaaaaaaaaaahhhhhh ऍम कंमिंग बेबी यस आआअह्ह्ह्ह करके मेरे लंड पे झड़ गयी.

मैंने फिर भी चुदाई नहीं रोकी, अब वो कण्ट्रोल से बहार थी खुद के, मैंने बोला मेरा पानी निकलने वाला है कहा निकलू. उसने मुझे जकड लिया और बोली इसकी सही जगह चूत मै है, और मै एक दम से उसकी चूत के अंदर ही झड़ गया। मेने दो महीने बाद किसी को चोदा था, इसीलिए मेरा मुठ सैलाब बन के निकला.

जब वो उठी तो उसकी चूत से मेरा मुठ निकलता गया, वो बोली इतना सारा मेरे लिए ही जमा किया था क्या. मै हस दिया और हमने फिर किस किया और हम फिर साफ़ करने चले गए. उस रात मेने उसे ५ बार चोदा और शायद ज़्यादा वक़्त रहता तो ये संख्या बढ़ भी सकती थी. एक बार तो उसने मेरा मुठ मुँह मै लेके गले मै उतार लिया. “Indian Club Sex

फिर अंतिम मै हम सो गए और सुबह उठते ही हमने एक राउंड और किया और फिर मै उसे घर छोड़ आया। मैंने बोहोत लड़कियों की प्यास बुझाई है लेकिन इस की बात ही कुछ अलग थी, इसने मेरी प्यास और बढ़ा दी थी, आज भी जब हम मिलते है, हम पहले चुदाई करते है फिर बातें।

ये थी मेरी नए साल की चुदाई की कहानी, मै आशा करता हु की आप लोगो को बोहोत पसंद आयी होगी, मै जल्दी हाज़िर होऊंगा अपनी दूसरी कहानी के साथ, इंतज़ार कीजियेगा, और हां ये मेरी gmail id है : [email protected] । आप मुझे बता सकते है की आपको कहानी कैसी लगी.

और हां मै लड़को और लड़कियों दोनों को सेक्स के वो पॉइंट्स बताता हु जिससे वो अपने साथी को चरमसुख की प्राप्ति करवा सकते है. तो अगर आपका साथी आपसे खुश नहीं है तो आप मुझसे निशुल्क पूछ सकते है, मै गारंटी देता हु मेरे तकनीक के बाद लड़का हो या लड़की दोनों अपने साथी को सेक्स का मज़ा दे सकते है। आपकी प्राइवेसी मेरी जिम्मेदारी होगी इसीलिए लड़कियों और लड़को किसी को भी सेक्स लाइफ मै दिक्क्त हो तो आप मुझे मेल मै पूछ सकते है। जल्द ही फिर मुलाक़ात होगी।

दोस्तों आपको ये Indian Club Sex की कहानी मस्त लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और Whatsapp पर शेयर करे………


Leave a Reply