Didi Ki Munh Chudai Pados Ke Chodu Ladke Ne Kiya – Crazy Sex Story


Didi Ki Munh Chudai Pados Ke Chodu Ladke Ne Kiya

Nai Didi Ki Chudai Ki Sexy Kahani मेरी दीदी शादीशुदा है और वो अपनी चूत को शांत करने के लिए एक रंडी बन गयी और मेरे जीजाजी के कुछ दोस्तों के साथ उसकी चुदाई का वो दौर बड़े मज़े से लगातार चल रहा था. मेरे जीजाजी के दोस्तों को भी जब भी उनकी चुदाई करने का मन करता वो दीदी के घर पर आकर दीदी को बड़े मज़े लेकर चोद लेते, लेकिन दीदी की भूख अब पहले से भी कुछ ज़्यादा ही बढ़ती जा रही थी. Didi Ki Munh Chudai Pados Ke Chodu Ladke Ne Kiya.

और उसकी अब हमेशा नये नये लंड से अपनी चुदाई करवाकर अपनी चूत को शांत करने की इच्छा होती चली गयी, जिसकी वजह से अब मेरी चुदक्कड़ बहन अपनी शरम को छोड़कर हमेशा घर में पेटीकोट और ब्रा में रहने लगी थी, जिसकी वजह से वो तुरंत ही किसी को भी अपनी तरफ आकर्षित करके उससे अपनी चुदाई करवा सके. और एक दिन उसने अपने दूध वाले को भी नहीं छोड़ा, मेरी दीदी उससे भी अपनी चुदाई करवा बैठी और उनको कैसे भी अपनी चूत को शांत करना था और उसके लिए वो कुछ भी करने के लिए तैयार थी.

मस्त हिंदी सेक्स स्टोरी : Lund Ko Garam Karne Laga Bhabhi Ke Jism Ko Dekh

दोस्तों दीदी के सामने वाले घर में रहने वाला एक लड़का जिसका नाम विजय था, जो कि 28 साल का था, वो अब मेरी छिनाल दीदी के बारे में सब कुछ जान चुका था. इसलिए वो भी उनकी चुदाई करने के मौके देखने लगा और वो नये नये जुगाड़ लगाने लगा था. और दीदी भी उसके इरादे को ठीक तरह से समझ गयी थी कि विजय अब दीदी की चुदाई करना चाहता है.

और उस वजह से दीदी को उसको अपने काम के लिए पटाने में कुछ ज़्यादा समय और मेहनत नहीं लगी. और अब मेरी दीदी ने रंडियों की तरह विजय को अपने गंदे इशारे करने शुरू कर दिए थे, जिनको वो बहुत अच्छी तरह से समझ चुका था.

एक दिन दीदी ने विजय को अपने घर में बुला लिया उस समय घर में कोई भी नहीं था और टीवी पर फैशन टीवी चल रहा था, जिसमें वो मॉडल अपना काम कर रही थी और वो बहुत छोटे छोटे कपड़े पहनकर अपने बूब्स को दिखा रही थी.

दीदी उससे बोली कि आप बैठो में चाय बनाकर अभी लाती हूँ और वो उससे यह बात कहकर दूसरे रूम में चली गयी और वो अब छुपकर विजय को देखने लगी और कुछ देर बाद विजय की टीवी पर वो सब देखकर धीरे धीरे हालत खराब होने लगी थी, इसलिए उसने अपना पांच इंच लंबा और तीन इंच मोटा लंड बाहर निकाला और वो लंड को धीरे धीरे सहलाने लगा.

उसकी पीठ पीछे से दीदी उसके लंड को देखकर अपनी चूत में उंगली करने लगी थी और वो दोनों धीरे धीरे गरम होकर जोश में आने लगी उनकी स्पीड भी अब पहले से ज्यादा तेज होती चली गई और कुछ देर बाद दीदी की चूत से ढेर सारा पानी बहकर बाहर आने लगा और जब दीदी से ज्यादा देर बर्दाश्त नहीं हुआ तो वो अब विजय के सामने आ गयी.

चुदाई की गरम देसी कहानी : Bhai Ne Khet Mein Meri Pyas Bujhai

और उन्होंने बिना पूछे ही विजय के लंड को पकड़ लिया और वो अब रंडी की तरह उसके लंड को सहलाने लगी. और लंड के टोपे को अपनी जीभ से चाटने लगी और पेशाब के छेद में अपनी जीभ को डालने लगी और एक हाथ से अपने बड़े बड़े बूब्स को दबाने लगी.

जिसकी वजह से विजय की हालत भी अब पहले से ज्यादा खराब होने लगी थी और उसने अपने लंड के दबाव को दीदी के मुहं पर बढ़ाया. और मेरी रंडी दीदी के मुहं को वो अब धकाधक मस्त मज़े से चोदने लगा और साथ में वो गालियाँ भी बकने लगा था.

वो कह रहा था हाँ और ले मेरी रंडी, ले मेरा लंड, चूस मज़े से, चूस साली कुतिया, तुझे लंड का आज में असली मज़ा दूंगा, जिसको तू पूरी जिंदगी याद रखेगी, में आज तुझे वो मज़े दूंगा. आज में तेरी चूत को इतना जमकर चोदकर फाड़ दूँगा तू रंडी पता नहीं साली कितने लंड हर रोज खाती है, हरामजादी चल अब तू मेरे आंडो को भी चूस और मेरी रंडी मुझे मज़े दे और अपनी चूत में भी उंगली कर.

फिर दीदी उसकी बातें सुनकर बहुत जोश में आ गई और वो बिल्कुल एक रंडी की तरह विजय के मोटे लंड को चूसकर मज़े देने लगी और वो बीच बीच में विजय के आंडो को भी अपने मुहं में लेकर चूसने लगी थी और विजय की हालत अब बहुत ज्यादा खराब हो गयी और वो मुहं में लंड को डालकर धनाधन धक्के देकर चोदने लगा.

दीदी के गले तक उसने अपने लंड को डालकर वीर्य की एक जोरदार पिचकारी को छोड़ा और दीदी का पूरा मुहं उसने अपने लंड के पानी से भर दिया और दीदी किसी अनुभवी रंडी की तरह उस सारे पानी को पी गयी और वो फिर से लंड को चूसने लगी जिसकी वजह से कुछ ही देर बाद उसका लंड एक बार फिर से तनकर खड़ा हो गया और दीदी फिर से उसकी मुठ मारने लगी.

अब विजय ने कहा कि रांड अब तू मुझे अपनी चूत दे में उसको कुछ देर चाटूँगा, तभी दीदी उसके कहते ही अपनी चूत को पूरा फैलाकर उसके सामने सीधी होकर लेट गयी और दीदी की चूत से उस समय ढेर सारा सफेद पानी बाहर निकल रहा था, क्योंकि वो विजय का लंड चूसते हुए दो बार झड़ चुकी थी.

मस्तराम की गन्दी चुदाई की कहानी : Kunwari Sali Ke Komal Hatho Ne Lund Ko Aram Diya

अब विजय ने सबसे पहले दीदी की चूत पर एक चुम्मा दिया और फिर वो चूत में अपनी जीभ को डालकर जीभ से ही दीदी की चूत को चोदने लगा और दीदी रंडी की तरह चिल्लाने लगी आह्ह्हह्ह उईईईईई साले बहनचोद कुत्ते जीभ से क्या तू मेरी चूत को चाट रहा है? इसमें तू अब जल्दी से तेरा लंड डाल दे और मुझे ज़ोर ज़ोर से धक्के देकर चोद, दिखा मुझे तू अपने लंड का दम और मुझे पूरे जोश में आकर चोद.

अब विजय को दीदी की बातें सुनकर एकदम से जोश आ गया और वो उठकर किचन में चला गया और वो अपने साथ एक बेलन ले आया सबसे पहले उसने बेलन पर बहुत सारा तेल लगाया और उस मोटे बेलन को उसने पूरा का पूरा दीदी की चूत में डाल दिया जिसकी वजह से दीदी को दर्द के साथ साथ मज़ा आने लगा.

और वो सिसकियाँ लेने लगी और साथ में गालियाँ भी बकने लगी उफफ्फ्फ्फ़ माँ में मर गई हाँ आईईईइ चोद ले मादरचोद तू आज मेरी चूत को हाँ पूरा डाल दे फाड़ दे तू आज मेरी चूत को, में तेरी रंडी हूँ और रंडी को बुरी तरह से चोदते है, रंडी पर बिल्कुल भी रहम नहीं करते और यह सब कहते हुए वो झड़ गयी.

विजय ने दीदी की चूत के पानी को अपनी जीभ से चाटकर साफ किया और चूत को अच्छी तरह से चमका दिया और उसके बाद उन दोनों ने थोड़ी देर वहीं पर आराम किया. फिर दीदी की चूत में दोबारा से वहीं खुजली होने लगी.

इसलिए वो रंडी की तरह अपनी चूत में अपनी उंगली को डालने लगी और अब बोली क्यों क्या हुआ साले तू अभी से ही थक गया? चल अब उठ आजा बहनचोद तू मेरी चूत को अपने लंड से चोद मुझे लंड की चुदाई का मज़ा भी दे जिसके लिए तुझे मैंने यहाँ बुलाया है और उस काम को भी अब तू जल्दी से पूरा कर दे.

दोस्तों अब विजय को दीदी की बातें सुनकर जोश आ गया और उसने दीदी को तुरंत पलटकर अपने लंड को उनकी गांड के मुहं पर रखकर बहुत ज़ोर से धक्का देकर गांड में अपने लंड को डाल दिया और दर्द की वजह से दीदी बहुत ज़ोर से चिल्लाने लगी कि मादरचोद कुत्ते की औलाद साले हरामी तूने इतनी बुरी तरह से मेरी गांड में लंड क्यों घुसाया?

फिर विजय ने कहा कि साली रंडी छिनाल वो इसलिए, क्योंकि तेरी फटी हुई चूत में अगर मेरा लंड जाएगा तो तुझे उसका पता भी नहीं चलेगा और ना तुझे मज़ा आएगा और ना मुझे अच्छा लगेगा और वैसे भी मेरी रंडी अब तेरे पास तेरी गांड ही चोदने के लिए बची है रंडी छिनाल, इसलिए में अब तेरी गांड मार रहा हूँ और तू देख तुझे आज कितना मज़ा आएगा?

अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरीज : Gand Utha Utha Kar Chudwaya Cousin Bahan Ne

फिर कुछ देर के बाद दीदी को उसके धक्के देने से अब मज़ा आने लगा था और वो आह्ह्ह्ह ऊईईईईईई माँ उफफ्फ्फ्फ़ जैसी आवाज़ें निकालने लगी और वो अपनी गांड को मज़े से चुदवाने लगी और वो दोनों एक दूसरे को बहुत गालियाँ देने लगी. “Didi Ki Munh Chudai

विजय ने दीदी के बड़े बड़े बूब्स को अपने हाथ में लेकर बुरी तरह से मसलना शुरू किया और उसने पूछा क्यों रंडी यह क्या है? तब दीदी ने रंडी की तरह जवाब देकर कहा कि यह मेरे बूब्स है बहनचोद इसे तू आज और भी बुरी तरह से मसल दे और इसमे से दूध निकाल दे.

अब विजय ने दीदी के बूब्स को जोश में आकर बुरी तरह से मसलना शुरू किया, जिसकी वजह से दीदी को और भी जोश आ गया और विजय ने उसी समय नीचे से दीदी की चूत में अपना एक हाथ डाल दिया और वो अपने हाथ से दीदी की चूत को चोदने लगा और पूछने लगा कि बता यह क्या है रंडी?

दीदी ने कहा कि बहनचोद तू मेरी चूत में हाथ डालकर मुझे चोद रहा है और मुझसे ही पूछता है कि यह क्या है? यह मेरा भोसड़ा है जिसमें में तेरे जैसे सभी के लंड खाती हूँ और पेशाब करती हूँ और दीदी बहुत मज़े से विजय के हाथ से अपनी चूत को चुदवाने लगी.

तभी विजय ने अपने लंड को गांड से बाहर निकालकर एक बार और ज़ोर का धक्का मार दिया और गांड को फिर से लगातार धक्के देकर चोदने लगा और वो दीदी को गालियाँ देने लगा कि क्यों रंडी तू अब तक कितने लंड खा चुकी है छिनाल, तूने अपनी चूत का भोसड़ा ही बनवा लिया है, देख रंडी तूने अपने बूब्स को इतने बड़े बड़े कर लिए है? रंडी तू और कितना अपनी गांड को मरवाएगी, साली रांड तुझे तो बीस लोग भी अगर एक साथ चोदे तब भी वो लोग तेरी प्यास को नहीं बुझा सकते.

अब दीदी कहने लगी हाँ भड़वे मार तू आज मेरी गांड और ज़ोर से धक्के मार, फाड़ दे तू मेरी चूत को साली इसकी प्यास ही नहीं बुझती, चोद मुझे और अपने दोस्तों से भी तू मुझसे चुदवा दे, फाड़ दे मेरी चूत को और ज़ोर से हाँ और ज़ोर से धक्के देकर फाड़ दे मादरचोद.

फिर विजय बोला कि हरामजादी तू तो बहुत बड़ी रंडी है, कुतिया तुझे तो कोई कुत्ता चोदेगा रंडी तेरी चूत को तो में आज चीर दूँगा, तभी दीदी ने अपनी चूत से ढेर सारा पानी बाहर की तरफ छोड़ दिया और विजय और ज़ोर से धक्के देकर गांड को चोदने लगा. “Didi Ki Munh Chudai

कामुकता हिंदी सेक्स स्टोरी : Mom Dad Ka Pyar Aur Bhai Bahan Bekarar

क्योंकि उसका लंड अब बहुत आसानी से फिसलता हुआ अंदर बाहर हो रहा था और फिर एक ज़ोर की पिचकारी को विजय ने गांड में छोड़ दिया, वो पिचकारी इतनी तेज थी कि दीदी का पूरा गोरा बदन कांप गया और उसने मज़े लेकर अपनी दोनों आखें मूंद ली, क्योंकि आज पहली बार उसकी गांड की किसी ने भरपूर मजेदार चुदाई के उसको मज़े दिए थे और वो अपने चेहरे से एकदम संतुष्ट नजर आ रही थी.

फिर वो दोनों एक साथ उसी बेड पर लेट गये और एक दूसरे को चूमते हुए सो गये. दोस्तों यह थी मेरी छिनाल बहन की चुदाई और में उम्मीद करता हूँ कि आप सभी पढ़ने वालों को मेरी यह कहानी ज़रूर पसंद आई होगी.

दोस्तों आपको ये Didi Ki Munh Chudai Pados Ke Chodu Ladke Ne Kiya कहानी मस्त लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और Whatsapp पर शेयर करे………….


Leave a Reply