Desi Mami Bhanja Sex – मेरी चुद्दकड़ बीवी भांजे का लंड चाटने लगी


Desi Mami Bhanja Sex

मेरा नाम शैलेश दुबे है। मैं अभी मेरठ में अपनी बीबी के साथ रह रहा था। आपको बता दूँ की मेरी पहली बीबी रत्ना गुजर गयी थी। इसलिए मुझे दुबारा शादी करने पड़ी। मेरी दूसरी बीबी की नाम तृप्ति है। वो शादी शुदा औरत है। उसका पति गुजर गया था इसलिए वो विधवा हो गयी थी। अब मैंने उससे शादी की। Desi Mami Bhanja Sex

दोस्तों मुझे जरा भी नही मालुम था की तृप्ति कितनी बड़ी चुदक्कड और अल्टर औरत है। मेरे साथ उसने क्या क्या किया आपको सब बात बता रहा हूँ। मैंने 2019 में मैंने तृप्ति से शादी कर ली। मैंने तो उसे एक सरीफ और घरेलु किस्म की औरत समझ रहा था पर मुझे नही मालूम था की उसके सेक्सी जिस्म के पीछे कितनी बड़ी रंडी छुपी हुई है।

तृप्ति का जिस्म काफी सेक्सी और भरा हुआ था। रंग काफी गोरा था जिसे देखकर मैंने उस रांड से शादी कर ली पर दोस्तों उसे रोज नया नया लंड खाने की आदत थी। शादी के बाद ही तृप्ति मुझे अपना रंग दिखाने लगी। मेरी गली में अबरार नाम का एक आवारा लड़का घूमता था जो सदैव चूत के जुगाड़ में रहता था।

मेरी बीबी तृप्ति ने उससे दोस्तों कर ली और चुदवा लिया जब मैं अपनी फक्ट्री में काम पर  गया हुआ था। मैं एक लोहे के पार्ट्स बनाने वाली फक्ट्री में काम करता हूँ। जब कम पर गया था तब ही ये काण्ड हो गया। कुछ दिनों बाद आसपास वालो ने मुझे अबरार और तृप्ति के प्रेम सम्बन्ध के बारे में बताया। ये पता चलते ही मैंने अपनी बीबी की खूब कुटाई की।

उसके बाद वो “माफ़ कर दो शैलेश!! दोबारा ऐसा नही करूंगी!!” बोलने लगी और घडियाली आंसू बहाने लगी। मुझे उस पर तरस आ गया और मैंने उसे माफ़ कर दिया। मैं सोचने लगा की शायद मैं उसे रोज नही चोद पाता हूँ इसलिए उसने बाहर के मर्द से अपनी चूत फड़वा ली।

मस्त हिंदी सेक्स स्टोरी : Sharab Ke Nashe Mein Randi Ban Kar Chudi

मैंने अपनी सेक्सी लेकिन बदचलन बीबी को माफ़ कर दिया और उस रात उसे खूब प्यार किया। उस रात तृप्ति ने मेरी फेवरिट मछली पकाई। मछली रोटी और चावल दोनों ने खूब प्रेम से खाया और दोनों दोनों बिस्तर पर आ गये। रात के 10 तो बज चुके थे। मैंने अपना बनियान कच्चा उतार दिया और तृप्ति को अपने पास बुला लिया।

“ये आप क्या कर रहे है जी??” मेरी बीबी तृप्ति पूछने लगी.

“जान!! मैं फक्ट्री में काम करके इतना थक जाता हूँ की तेरे सुख का मुझे ध्यान ही नही रहता है। आज तुझे मैं भरपूर सेक्स का सुख दूंगा” मैंने कहा और धीरे धीरे अपनी चुदक्कड और अल्टर बीबी के ब्लाउस को खोलने लगा। दोस्तों तृप्ति की उम्र अभी सिर्फ 27 साल की थी। इकदम जवान आइटम थी।

मैंने उसका ब्लाउस उतार दिया और सफ़ेद ब्रा में उसके दूध क्या जम रहे है। मेरी सेक्सी चुदासी बीबी का फिगर 36 30 34 का है जिसे देखकर किसी भी मर्द का लंड खड़ा हो जाए। सफ़ेद कसी कॉटन ब्रा में तृप्ति के तने नोंकदार कबूतर तो जैसे मेरी जान ही निकाल दे रहे थे।

मैं हाथ से उसकी 36” की भरी चूचियों को मसलने और दबाने लगा तो तृप्ति “..अहहह्ह्ह्हह स्सीईईईइ….अअअअअ….आहा …हा हा हा” करने लगी। मैं ब्रा के उपर से खूब मसला अपनी माल को। फिर वो भी चुदने को हो गयी।

“रुकिए जी!! ब्रा उतारती हूँ” तृप्ति बोली.

उसने अपने हाथ से अपनी कसी ब्रा को उतार दिया। उसकी नंगी गदरायी दुधियाँ मस्त मस्त छातियों को देखकर मेरी नियत खराब हो गयी थी। दोस्तों सारा दोष मेरा ही था। जवान बीबी को महिना महिना चोदता ही नही था। तो बेचारी क्या करती। इसलिए उसने बाहर के मर्द से चुदवा लिया।

मैंने दोनों हाथो से अपनी सेक्सी बीबी के दूध दाबना शुरू कर दिया। वो सिसकारी लेने लगी। उसकी दूध बिलकुल सफ़ेद है और बड़े कोमल है दोस्तों। सफ़ेद चूचियों के उपर काले काले चिकने गोले है जो बेहद सुंदर लगते है। मैं तृप्ति के कबूतर उसकी निपल्स को मुंह में लेकर चूसने लगा। वो “……अई…अई….अई……अई….इसस्स्स्स्स्स्स्स्…….उहह्ह्ह्ह…..ओह्ह्ह्हह्ह….” करने लगी।

चुदाई की गरम देसी कहानी : Class Teacher Ko School Toilet Mein Choda

आज मैं तृप्ति को चोद चोदकर उसकी आग शांत कर देना चाहता था। इसलिए मैं अच्छी तरह से चूस रहा था। उसकी दोनों दूध को मुंह से पकड़कर मुंह चला चलाकर चूस रहा था। खूब उसका रस पीया जिससे उसकी चूत रिसने लगी। आज मैं उसे परमसुख देना चाहता था। मैं तृप्ति के कबूतर को मुंह से पकड़कर उपर को खींच देता था किसी वक्युम क्लीनर की तरह। इस तरह करने से उसे दुगुना मजा आने लगा।

“मेरे पति देव!! मैं तुम्हारे लंड की प्यासी हूँ। आज मुझे चूत में अंदर तक चोद डालो” मेरी चुदक्कड बीबी तृप्ति कहने लगी.

“कपड़े उतार साली!! आज तेरी अन्तर्वासना को शांत कर दूँ!” मैंने कहा.

फिर तृप्ति ने जल्दी जल्दी अपनी साड़ी खोली। फिर पेटीकोट उतार दिया। उसकी आसमानी पेंटी पूरी तरह से पानी से भीग गयी थी। तृप्ति ने उसे भी उतार दिया। अब वो मेरे सामने दोनों टांग खोलकर लेट गयी। सिर से पाँव तक गोरा चिकना जिस्म देखकर मुझे उस गली के लौंडे से जलन होने लगी।

बेटीचोद! ने मेरी सेक्सी बीबी को चोद लिया। कितना किस्मत वाला है। मैंने सोचा और फिर मुंह लगाकर तृप्ति की चूत का रस चाटने लगा। वो “अई…..अई….अई…अहह्ह्ह्हह…..सी सी सी सी….हा हा हा…”करने लगी। मैंने आज अच्छी तरह से उसकी बुर चटाई शुरू कर दी। जल्दी जल्दी किसी हाँफते कुत्ते की तरह चाट रहा था।

तृप्ति गर्म होकर अपना पेट उठाने लगी। दोस्तों उसकी चूत का पानी मुझे बड़ा मीठा लगा। बिलकुल चिकनी चूत थी। मैं अच्छी तरह से चाट रहा था। तृप्ति सी सी करती जा रही थी। अपने हाथ से बिस्तर की चादर को दोनों हाथो से पकड़कर मरोड़ रही थी।

उसकी चिकनी चमेली को मैंने मन भरकर चूस डाला। उसके उपरान्त मैंने अपना 8” का मजबूत लौड़ा अपनी छिनाल बीबी के भोसड़े में दे दिया और उसकी ठुकाई शुरू कर दी। तृप्ति “….उंह उंह उंह हूँ.. हूँ… हूँ..हममममअहह्ह्ह्हह..अई…अई…अई…..” करने लगी।

मैंने भी आज तय कर लिया था की आज उसको कसके पेलना है वरना छिनाल कल को किसी दूसरे मर्द से चुदवा लेगी। मैंने उसके चूत के दाने में ऊँगली से थूक लगाकर गीला कर दिया और फिर ऊँगली से उसके बड़े से चूत के दाने को घिसने और छेड़ने लगा। साथ में जल्दी जल्दी उसकी बुर भी ले रहा था।

तृप्ति“….उंह उंह उंह हूँ—करने लगी। दोस्तों रोज तो मैं जल्दी ही झड़ जाता था पर आज ऐसा नही किया। आज मैं दिमाग से खेल खेल रहा था। जब लगता की झड़ जाऊँगा लंड तृप्ति के भोसड़े से निकाल लेता और फिर 2 ऊँगली अंदर घुसा देता और चूत को फेट फेटकर बुरा हाल कर देता।

मस्तराम की गन्दी चुदाई की कहानी : Reshma Ki Chut Ko Car Mein Jamkar Bajaya

तृप्ति“आऊ…..आऊ….हमममम अहह्ह्ह्हह…सी सी सी सी..हा हा हा—क्या आप मुझे मार ही डालोगे जी!!” कहने लग जाती थी। फिर मैं 5 मिनट तक उसकी चूत में पच पच घच घच ऊँगली चलाकर उसके भोसड़े का बुरा हाल कर देता। फिर से लंड उसकी चुद्दी में घुसा देता और फिर से ठुकाई स्टार्ट कर देता।

दोस्तों इस तरह का जुगाड़ लगाकर मैंने अपनी चुदक्कड बीबी को करीब 2 घंटे चोदा और लंड निकालकर उसके मुंह पर माल की बारिश कर दी। मुझे अलग तरह का सुकून मिला उसके मुंह में माल झाड़कर। कुछ देर बाद मैंने उसकी गांड चोदी। इस तरह से मैंने एक महिना एक रात भी नागा नही किया।

रोज उसकी जबरदस्त चुदाई करता जिससे वो किसी गैर मर्द से न चुदाये और सिर्फ मुझसे ही अपनी चूत की खुजली दूर करवाये। इस तरह से सब ठीक चलता रहा और 4 महीने गुजर गये। अब मुझे अपनी बीबी तृप्ति पर पूरा भरोसा हो गया की अब वो सुधर गयी है और बाहरी मर्दों को नही देखती है।

कुछ दिनों बाद मेरे मकान मालिक ने कमरा खाली करा लिया इसलिए मुझे पास के इलाके में किराए पर घर लेना पड़ा। कुछ दिनों बाद मुझे पता चला की मेरा दूर का रिश्ते में भांजा लगता है जिसका नाम भावेश है वो भी उसी इलाके में रह रहा है। इसलिए मैं भावेश से मिलने चला गया।

अब भावेश अक्सर ही मेरे घर पर आ जाता। मेरी बीबी तृप्ति उसके लिए चाय नाश्ता लाती। दोस्तों कभी कभी भावेश मेरे घर पर रुक भी जाता। मुझे पता नही चला और तृप्ति और भावेश में इश्क हो गया। मैंने कुछ दिन शराब पी ली थी। दोस्तों क्या करूं मैं पीने खाने वाला आदमी हूँ।

अगर शराब रोज न मिले तो कम से कम 3 4 दिन में तो लगा ही लेता हूँ। मुझे व्हिस्की पीना बहुत पसंद था। मैंने कुछ दिन पी ली और तृप्ति को मार पीट दिया। इसी बीच भावेश रोज ही मेरे घर आ जाता और तृप्ति उसे रो रोकर अपने बदन के निशान दिखाती। “Desi Mami Bhanja Sex

“मत रो मामी!! मत रो!!” भावेश कहता और तृप्ति के हाथ पैर में निशान पर मलहम लगाने जग जाता। इसी तरह दोनों में कब इश्क हो गया ये तृप्ति को नही पता चला। अब दोनों मेरे पीठ पीछे मिलने लगे। जब भी अब मेरा दूर का भंजा भावेश मेरे घर पर आता तो अंदर चला जाता और फिर मेरी चुदक्कड बीबी को खूब किस करता। बाहों में भरके मीठी मीठी बाते करता था।

दूसरे दिन जब मैं फैक्ट्री गया तो फिर से भावेश मेरे पीठ पीछे मेरे घर पर आ गया। आते ही तृप्ति भी उसके करीब आ गयी क्यूंकि अब भावेश ही ऐसा लड़का था जिससे तृप्ति अपना दुःख सुख बाट सकती थी। मेरी चुदक्कड बीबी फिर से अपने घड़ियाली आंसू बहाने लगी। मेरा भांजा उसे चुप कराने लगा।

“मामी!! मामा तुमको मारते पीटते है पर मैं तो तुमको प्यार करता हूँ। मैं तुमको दुनिया की हर ख़ुशी दूंगा” भावेश बोला और उसको बाहों में भर लिया.

फिर उसके गालो पर चुम्मा देने लगा। ऐसे ही तृप्ति भी उससे पट गयी और दोनों प्यार करने लगे। धीरे धीरे भावेश मेरी बीबी को बिस्तर पर ले गया और जहाँ जहाँ मैंने उस रांड को मारा था वहाँ मलहम लगाने के बहाने भावेश ने तृप्ति ही पूरी साड़ी उतारवा दी। फिर उसके 36” के मस्त मस्त दूध वाले ब्लाउस को उपर से दबाने लगा।

अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरीज : Pyasi Bhaujai Ke Chuttad Me Lund Ghisna Shuru Kiya

मेरी चुदासी बीबी “उ उ उ उ उ……अअअअअ आआआआ… सी सी सी सी….. ऊँ—ऊँ…ऊँ….” करने लगी। तृप्ति को पहले से पराये लंड खाने की आदत थी। वो तो पहले से कई मर्दों से चुदवा चुकी थी। दोनों कबूतर को दबा दबाकर भावेश ने मेरी सेक्सी बीबी को गर्म कर दिया। फिर बलौस और ब्रा उतारकर उसके हरे भरे दूध को मुंह में लेकर चूसने लगा। ऐसे में तृप्ति भी मना न कर सकी। “Desi Mami Bhanja Sex

“भावेश!! मेरे भांजे!! आज तू आपनी मामी को प्यार दे दे। आज मुझे कसके चोद डाल बेटा!!” मेरी बीबी बोली.

“मामी!! मैं तुमसे उम्र में 7 साल छोटा हूँ पर आज तुमको इतना चोदूंगा की मामा भी न चोद सके। मेरे मोटे लंड का कमाल तुमने नही देखा!!” बहनचोद भावेश बोला.

उसके बाद उसने मेरी बीबी के मस्त मस्त दूध को मुंह में लेकर चुसना शुरू कर दिया। तृप्ति आज फिर से एक नये मर्द को अपने यौवन का शिकार बना रही थी। जवानी में वो बड़े सुख ले रही थी। अब भावेश उसके सुडौल छातियों को मुंह से लगा लगाकर रस पीने लगा तो तृप्ति भी उसको दुलार करने लगी।

मैं तो उस वक़्त फैक्ट्री में था जब दोनों मजे लूट रहे थे। भावेश ने करीब 30 मिनट तक मेरी अल्टर बीबी के दूध हाथ से दबा दबाकर और बड़े कर दिए और मुंह में ले लेकर चूस डाला। मेरी बीबी तृप्ति  “ हूँउउउ हूँउउउ हूँउउउ ….ऊँ—ऊँ…ऊँ सी सी सी सी… हा हा हा.. ओ हो हो….”करने लगी।

“ओह्ह भावेश!! तू उम्र में मुझसे छोटा है पर तुझे तो चुदाई शास्त्र बड़े अच्छे से आता है रे!!! तुझे तो काम क्रीडा का हर हुनर पता है!!” तृप्ति बोली.

उसके बाद भावेश ने उसकी साड़ी उतार दी। पेटीकोट का नारा खोल उसे भी उतार दिया। भावेश ने मेरी बीबी की लाल रंग की चड्डी उतार दी। सामने मेरी बीबी की मस्त मस्त चूत भावेश का बेसब्री से इंतजार कर रही थी। भावेश अब तृप्ति के भोसड़े को बड़े ध्यान से देखना लगा। कितनी गदेदार चूत थी। ये देख देखकर भावेश से अपनी आँखों को खूब सेका। “Desi Mami Bhanja Sex

“आओ मेरे भांजे!! आज अपनी गर्म मामी को अपने मोटे लंड से चोद डालो!! देखो अच्छे से चोदना!” तृप्ति किसी रंडी की तरह बोली.

मेरी बीबी का भोसड़ा बहुत बड़ा था। उसे कई मर्दों ने पहले से चोद रखा था। पहले उसके पहले पति ने उसे कुछ साल चोदा था। फिर मैंने चोदा था। फिर दोस्तों मेरी बीबी ने मेरे गली के आवारा लड़के अबरार से चुदवा लिया था। आज भावेश चौथे नम्बर पर मेरी औरत को पेलने जा रहा था।

वासना की आग आज भावेश के बदन में भडक गयी। वो किसी बिल्ली की तरह तृप्ति के भोसड़े पर कूद पड़ा और मुंह लगाकर जल्दी जल्दी चूत चाटने लगा। एक एक कली, एक एक फाड़, एक एक परत को भावेश चूसने लगा। अब मेरी सेक्सी बीबी “…….उई. .उई..उई…….माँ….ओह्ह्ह्ह माँ……अहह्ह्ह्हह…”करने लगी।

भावेश ने 18 20 मिनट तक तृप्ति के भोसड़े का दीदार भी किया और खूब चाटा चूसा भी। उसके बाद उस गांडू ने अपनी जींस पेंट उतार दी और फिर अंडरवियर उतार कर जल्दी जल्दी अपने लंड को फेटने लगा। 2 मिनट में उसका लंड लोहे की रॉड की तरह दिखने लगा। बिलकुल लोहे की तरह सख्त। मेरी अल्टर बीबी भावेश का लौड़ा देखकर ललचा गयी।

“आजा भांजे!! अपनी मामी को अपना लंड चूसा दे!” तृप्ति बोली.

कामुकता हिंदी सेक्स स्टोरी : Girls Hostel Ki Masti Pahli Bar Chudai Main Hostel Me

भावेश बेड पर खड़ा हो गया। उपर पंखा था। तृप्ति बेड पर बैठ गयी और जल्दी जल्दी भावेश का लंड फेटने लगी। धीरे धीरे लंड पूरी तरह से फूल गया। अब मेरी चुदासी बीबी जल्दी से लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी। भावेश सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ. .ऊँ…ऊँ करने लगा। तृप्ति तो बिलकुल रंडी बन गयी। “Desi Mami Bhanja Sex

हाथ से जल्दी जल्दी फेट रही थी और किसी आइसक्रीम की तरह चूस रही थी। आगे पीछे सर हिला हिलाकर। काफी चुसना हुआ। अब भावेश ने मेरी बीबी की चोटी को बर्बरता से पकड़ लिया और उसके मुंह में लंड घुसाकर चोदने लगा। तृप्ति के बालो की चुटिया को पकड़कर भावेश ने अपने लौड़े से उसको मंजन करवा दिया। उसके गाल, नाक और आँखों पर लंड के सुपारे को 15 मिनट तक रगड़ता रहा।

“चल छिनाल कुतिया बन!!” भावेश किसी चोदू गुस्सैल आदमी की तरह बोला.

मेरी सेक्सी बीबी तृप्ति फौरन कुतिया बन गयी। उसके बाद भावेश ने अपना लंड पीछे से उसके भोसड़े में निर्ममता से घुसा दिया और चोदने लगा। आज वो किसी नीग्रो की तरह तृप्ति को पेल रहा था। तृप्ति “……मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ. .ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ..” चिल्ला रही थी। भावेश ने उसके चिकने पुट्ठो को हाथ से खूब मारा और पेलता रहा।

आधे घंटे उसने मेरी औरत को चोद चोदकर बुर फाड़ दी और चूत के अंदर ही झड़ गया। दोस्तों जब मुझे इस काण्ड के बारे में पता चला तो मैंने शहर ही छोड़ दिया। अब अपनी चुदक्कड बीबी तृप्ति को लेकर नॉएडा आ गया हूँ। पर आज ही डर रहता है की कही वो किसी नये मर्द को अपने प्यार के जाल में फंसाकर न चुदवा ले।

दोस्तों आपको ये Desi Mami Bhanja Sex की कहानी मस्त लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और Whatsapp पर शेयर करे………

Leave a Reply