Desi Bathroom Sex – सिल्क साड़ी वाली सेक्सी आंटी के जिस्म को भोगा

Desi Bathroom Sex

नमस्कार दोस्तों पहले मै अपने बारे में बता देता हूं, दोस्तो मेरा नाम आयुष है। मै २३ वर्ष का हूं और मै दिल्ली में रहता हूं।। मुझे शुरू शुरू मे हम उम्र लड़कियों मे बहुत रुचि थी परन्तु मेरे रिश्तेदार आंटी ने मेरी सोच बदल दी उनका नाम ब्यूटी था।। जैसा नाम वैसा ही बदन।।। Desi Bathroom Sex

एकबार मेरे घर पर पूजा थी तो घरवालों ने सभी रिश्तेदारो को आमंत्रिक किया था जिनमें एक आंटी भी थी जिनके बारे में मैं आपको बता देता हूं। उनका कद साढ़े पांच फुट था तथा हल्की पतली कमर, उनका दूध का नाप ३४ और गांड़ ३६ का था।।

उस दिन वो आंटी पूजा में आयी, शुरू मे तो मैंने उनके ऊपर ज़्यादा ध्यान नहीं दिया पर आरती के समय वो मेरे बगल मे खड़ी हो गई तो मेरी नज़र उनपे पड़ गई। उस दिन वो सिल्क भूरे रंग का साड़ी पहन के आयीं थी।।क्युकी वो मेरे बगल मे थी, मेरी नज़र उनके साड़ी के अंदर उनके ब्लाउज पे पड़ी,, उनका ब्लाउज का रंग नारंगी था।।

मैंने थोड़ा गौर से देखा तो मुझे दिखा के उनका ब्लाउज काफी टाइट था और उसमे उनके स्तन के निप्पल का निशान बन रहा था।। हमारे घर में पूजा गर्मी के समय हो रही थी जिसके वजह से उनके ब्लाउज़ में पसीना भी आरहा था जिससे उनके निप्पल और साफ नज़र आने लगे।।

मै एकटक उस दृश्य को देखता रहा फिर मैंने नज़र हटा ली।। अब हर कुछ देर बाद मै किसी ना किसी बहाने से उनके ब्लाउज़ के तरफ देखता और वो देखते ही मेरा खड़ा हो जाता था। सिल्क की साड़ी ऊपर से ऐसा गदराया बदन गर्मी के मौसम में मेरी गर्मी और बढ़ा रहा था।।

मस्त हिंदी सेक्स स्टोरी : मम्मी की जवानी के शोले भड़के

कुछ देर बाद प्रसाद लेने के चक्कर में मैंने मौका पा के उनके पीछे खड़ा हो गया और हल्का धक्का लगते ही मै उनसे भिड़ गया।। वो कुछ देर का स्पर्श मेरे तन बदन मे आग लगा रहा था।। मैंने मन ही मन सोच लिया था के इस आंटी के साथ शारीरिक संबंध बनाना अब मेरी ज़रूरत है।।

कुछ दिन बाद मेरा २३ वा जन्मदिन आया तो ब्यूटी आंटी को मैंने अपने जन्मदिन पर दोबारा अमंत्रिक किया लेकिन इसबार ज़्यादा मेहमान को नहीं बुलाया गया।। आंटी मेरे जन्मदिन पर आ गई।। उस दिन उन्होंने गोल्डन चिमकली साड़ी पहनी थी और ब्लाउज़ भी उसी रंग का था और इस बार ब्लाउज़ पीछे से बैकलेस था जिससे मेरा मन और डोल गया।।

कुछ देर बाद मैंने केक काटा और केक काटने के बाद मैंने उन्हें केक खिलाया और उन्होंने भी मुझे प्यार से केक खिला कर गाल पे केक लगाया ।।। काफी रात होने के वजह से उन्होने उस दिन मेरे घर रुकने का निश्चय किया जिससे मैं खुश हो गया हमने काफी देर तक काफी मस्ती की।।

इसी बहाने मैंने आंटी को कई बार छुआ और एक दो बार उनकी नंगी पीठ भी छू लिया।। अचानक से घर की लाइट चली गई और काफी अंधेरा होगया।। हमारे घर इनवर्टर था पर बाथरूम में उसका कनेक्शन नहीं था। थोड़ी देर में मैं बाथरूम चला गया और अंधेरे में पेशाब करने लगा।।

उतने में ही मैंने आवाज़ सुनी और ऐसा प्रतीत हुआ के कोई बाथरूम के तरफ़ आ रहा है।। मैंने आवाज़ सुनी तो पता लगा के वो आंटी ही बाथरूम की ओर आ रही थी।। बाथरूम मे लाइट ना होने के वजह से मैंने बाथरूम का दरवाज़ा लॉक करना ज़रूरी नहीं समझा।।

दरवाज़ा खुला देख आंटी बाथरूम मे घुस गई तब उनकी आहट पा कर मैं एकदम शांत होगया मानो वहां कोई ना हो।। आंटी बाथरूम में आके दरवाज़ा बंद कर दी।। अब बाथरूम में मैं और आंटी लॉक थे जिसका अंदाज़ा आंटी को ना था।। अब आंटी पेशाब करके अपनी साड़ी उतारने लगी जो मै कोने में होके देख पा रहा था ।

चुदाई की गरम देसी कहानी : Darwaje Ke Chhed Se Didi Ko Nahate Dekha Nude

उन्होंने अपनी साड़ी उतारी ही थी कि लाइट आगई और बाथरूम की लाइट जल गई।।। जैसे ही लाइट जली आंटी की नज़र मेरे पे गई।।। वो मुझे वहां नंगा देख चौंक उठी।। इस मौके पर मैं उनको बिना साड़ी के सिर्फ गोल्ड ब्लाउज और काले पेटीकोट में देख रहा था।। क्या दृश्य था दोस्तों, मै लिखकर बयान नहीं कर सकता।।।

उनके स्तन भरे लग रहे थे और जब उस चमकीले ब्लाउज़ पर सफेद रोशनी पड़ रही थी और आंटी का दूधिया रंग उनको और सेक्सी बना रहा था।। आंटी ने मेरे से पूछा के तुम यहां कैसे।। मैंने फिर सबकुछ बताया।। आंटी ने शुरू में काफी गुस्सा किया और बोला के तुम्हरे मम्मी पापा को बताना पड़ेगा के उनका लड़का अब बच्चा नहीं मर्द बन चुका है।।

मैंने तुरन्त आंटी को सॉरी बोला उनका हाथ पकड़ा।। इस समय बाथरूम मे मै और वो बहुत करीब आचुके थे और उनका टाइट स्तन मेरे सामने था।। मन किया बिना सोचे दबोच लू पर मैंने ऐसा नहीं किया।।। इतनी देर में आंटी की नज़र मेरे लन्ड पर पड़ी तो उन्होंने देखा के मेरा लन्ड तन के खड़ा है और उनके खूबसूरती को सलामी दे रहा है।।

उन्होंने पूछा ये सब क्या है? तो मैंने बोला आंटी आपकी ये खूबसूरती में मै खो गया हूं और ये खड़ा लंड उसका सबूत है।। आंटी ये सुनकर हैरान थी।।पर मैंने इतने में उनके कमर पे हाथ रख दिया और सहलाने लगा।।और धीरे धीरे उनके पीठ पर हाथ ले जाकर उसको सहलाने लगा।। आंटी की आंखे बंद होने लगी।।

मैंने मौका देखकर उनको गले पर चूम लिया जिसके वजह से आंटी ने अपना आपा खो दिया और उनका हाथ मेरे लंड पे लग गया जिससे मेरे बदन में बिजली सी कौंधी।।। मै उनके और करीब होते होते उनको उनके गाल को चूम लिया फिर चूमते चूमते उनके होंठो को दांत से हल्का काट किया.

जिससे आंटी मंत्रमुग्ध हो गई और अचानक मेरे होंठो को पकड़कर अपने होंठो के साथ लॉक कर दिया।।और मैंने उसी समय ये महसूस किया के आंटी का हाथ मेरे लंड को सहला रहा है जिससे मेरा और खड़ा हो रहा और लग रहा था अब मेरा माल चू जाएगा।।।

आंटी के स्पर्श से मै इतना उत्तेजित हो गया के मेरा हाथ धीरे धीरे आंटी की दूध के तरफ़ बढ़ा और उनके ब्लाउज़ के ऊपर से उनके दूध दबाने लगा।। उनके ब्लाउज़ के पसीने को महसूस कर पा रहा था।। मैंने उनके ब्लाउज़ के ऊपर से उनके निप्पल को रगड़ना शुरू किया और फिर थोड़ा उनके स्तन को अपने हांथो से उछाले।। क्या मस्त उछल रहे थे उनके दूध।। “Desi Bathroom Sex”

फिर मैंने हाथ पीछे करके उनका ब्लाउज खोल दिया और अब वो मेरे सामने ब्रा मे खड़ी थी।। उन्होंने सफेद रंग की गहरी ब्रा पहनी थी जिसमे से उनके दोनों दूध के बीच का हिस्सा दिख रहा था।। मैंने फिर उनको बोला के अब बाथरूम से निकलकर कमरे में चलते है।। हमदोनो एक खाली कमरे में जाकर कमरा बंद कर दिया।।

मस्तराम की गन्दी चुदाई की कहानी : Devar Ji Meri Sukhi Chut Ko Gila Kar Do Na Luade Se

मैंने आंटी को बेड पे लिटा दिया।। वो अभी सिर्फ ब्रा और पेटीकोट में थी।। मैंने कमरे में पड़ी कैंची ली और आंटी के ब्रा का वो हिस्सा काट दिया जिसके पीछे निप्पल छुपे थे।। अब आंटी ब्रा में तो थी पर उनके चूचों के निप्पल बाहर आगए मैंने उन निप्पल को चूसना शुरु किया तो आंटी की आह निकल गई और उन्होंने ने मेरा बाल पकड़ लिया।।

मैंने उनकी पेटीकोट निकाल दी।।अंदर वो पिंक कलर का पैंटी पहनी थी जो देख मेरी वासना और बढ़ गई और मैंने उनके पैंटी के ऊपर से ही उनकी चूत में उंगली करना शुरू कर दिया जिससे उनकी आवाज़ बढ़ गई।। धीरे धीरे मैंने उनकी पैंटी के अंदर हाथ डालकर उनके चूत में उंगली डाल कर हिलाना शुरू किया.

तो वो मुझसे लिपट गई और मै जोर जोर से उंगली आगे पीछे करने लगा तो थोड़ी देर बाद उनके चूत से पानी निकल गया और मेरी उंगली मे लग गया जिसको मैंने चाट के देखा तो मेरी हवस और बढ़ गई।। अब मैंने आंटी की पैंटी भी वैसे ही कैंची से काट दी जैसे ब्रा काटी थी।।

आंटी ने बोला अब इतना हवस चढ़ गई है के अब तू अपना हथौड़ा मेरे मे डाल दे और मज़ा बढ़ा।। मैंने तुरन्त ही अपना लौड़ा उनकी चूत में डाल दिया तो उनकी चीख निकल गई।। उनकी आवाज़ इतनी तेज़ थी के घर के लोग उन्हें उनके नाम से पुकार कर बुलाने लगे और मैंने आहट सुनी की कोई हमारे बंद कमरे की तरफ आराहा है।। “Desi Bathroom Sex”

मैंने तुरन्त आंटी को ये बात बोली और हमदोनों नंगे बदन कमरा खोलकर छत की ओर भागे।। हम दोनों इस वक्त पूरी तरह नंगे थे।। आंटी भाग रही थी तो उनके स्तन जोर जोर से हिल रहे थे।। रात का वक्त था इसलिए आस पास वाले घर के छत पर कोई नहीं था और हम अंधेरे में खुली छत पर नंगे बदन साथ मे थे।। “Desi Bathroom Sex”

छत पर जाते ही आंटी चूत खोलकर लेट गई और मैंने तुरन्त अपना औजार उनमें डाल कर आगे पीछे करने लगा।। हमने छत का दरवाज़ा बंद कर दिया था और लोगो ने आवाज़ लगाई तो आंटी ने बोला के मै आयुष के साथ छत पर हूं थोड़ी देर में आती हूं।। हमने छत पर ज़बरदस्त चुदाई की और बीच बीच में मैं आंटी के गांड़ पर थप्पड़ मार रहा था और चूचों को चूस रहा था।।

इतने में मुझे लगा मेरा पानी निकलने वाला है तो मैंने आंटी को बोला तो उन्होंने बोला के मेरे चूत में ही छोड़ दो मेरा पीरियड्स अभी एक हफ़्ते पहले ख़त्म हुआ है तो प्रेगनेंसी अभी नहीं होगी।।। मैंने उनके चूत में ही अपना वीर्य निकाल दिया और थक कर उनके ऊपर लेट गया।।

फिर मैंने उनको बोला के मुझे उनका ब्रा फाड़ने का मन है तो उन्होंने बोला के अगर ब्रा फट गया तो कल घर कैसे जाउंगी बिना ब्रा पहने तो मैंने तुरन्त आंटी को बोला के अभी आपका ब्रा पैंटी फाड़ देने दो और आज़ाद करने दो अपने २ रत्नों को कल मै आपके जाने से पहले मार्केट से आपके लिए नया ब्रा पैंटी ले के आऊंगा।

अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरीज : Mummy Ko Sex Bomb Bana Diya Fufa Ji Ne Pel Pel Kar

वो मान गई तो मैंने पूरी ताकत से ब्रा को फाड़ दिया और उनके स्तन को आज़ाद कर दिया।।उनके स्तन तने हुए थे और निप्पल खड़ा था।।मैंने २-३ थप्पड़ जड़ दिए उनके चूचों पर तो उन्होंने बोला थोड़ा आराम से आयुष!!! १० मिनट तक उनके चूची पर वार करके उनके चूचों को गीला कर दिया था और अब बारी थी उनका पैंटी फाड़ने की।।

तो मैंने एक झटके में उनकी पैंटी फाड़ दी।। थोड़ी देर बाद हम वापस कमरे में आगये तो मैंने आंटी को बोला के मुझे पेशाब करना है मगर उनके ऊपर वो भी जब वो अपनी साड़ी पहन लेंगी तब।। उन्होंने बिना ब्रा पैंटी के अपनी साड़ी दोबारा पहनी और सिर्फ साड़ी मे वो कतई माल लग रही थी।। मैंने तुरन्त उनके साड़ी पे मूतना शुरू कर दिया । “Desi Bathroom Sex”

उनका पूरा साड़ी मेरे पेशाब से भीग गया और मैंने बोला के एक बार और चोदना है तो आंटी ने बोला साड़ी उठा के चोद दो इस बार।।। और मैंने वैसा ही किया।। काफी देर बाद मैं दोबारा झड़ गया और पूरा माल आंटी के साड़ी पे निकाल दिया।। हम फिर साथ मे नहाए और आंटी ने मेरे मम्मी की साड़ी पहन ली और अपनी साड़ी जो मेरे मूत्र से भीग चुकी थी उसको धो दिया।।

फिर हम सबसे मिलने नीचे चले गए।। रात में सोने को हुआ तो मैंने बोला के मैं आंटी से बातें करना चाहता हूं तो रात में मैं उनके साथ सोऊंगा एक कमरे में । आंटी भी मान गई।। हम एसी वाले कमरे में सोने चले गए और रूम बंद कर लिया।। मैंने आंटी को बोला एसी कमरा एकदम ठंडा कर देगा तो हम और आप नंगे बदन सो जाते है और ऊपर कम्बल ओढ़ लेंगे।।

हमने वैसा ही किया।। हम एकदुसरे को बाहों में लेके नंगे होके लेट गए।।आंटी की चूचे और चूत नंगे थे और मेरा लन्ड भी।। और रह रह के आंटी मस्ती में मेरा लन्ड पर हाथ रख दे रही थी और फिर बोलती थी ये अभी भी सख्त है ऐसा लग रहा इसकी प्यास बुझी नहीं है तो मैंने बोला आप जैसी कोई कमसिन हसीना पहली बार मिली है तो इतनी जल्दी जैसे शांत होगा ये।।

यह सुनकर आंटी हवस निगाहों से मुझे देखकर हसने लगी और बोली के मेरे बदन का इतना बड़ा दीवाना था और मुझे भनक भी ना थी और इतना कह के उन्होंने मुझे ज़ोर से पकड़ कर मेरे होंठो को चूम लिया और मैंने भी मज़े लेने के लिए अपना होंठ उनके होठों से लॉक कर दिया।।

अब हम एक दूसरे के जीभ से खेल रहे थे और साथ में कम्बल के अंदर मैं उनके स्तन जोर जोर से दबा रहा था और वो मेरा लन्ड पकड़ कर हिला रही थी।। रात सुनसान होने के कारण उनके आह आह की आवाज़ मुझे और मदमस्त कर रही थी।। उन्होंने फिर धीरे से मेरे कानो मे बोला के आयुष मैं कल चली जाऊंगी तो अब आज की रात एकबर फिर अपना हथौड़ा मेरे बदन में घुसा दो ताकि अगर मैं कई दिन तक लंड की सवारी ना भी करूं तो मेरी हवस ना जागे।। “Desi Bathroom Sex”

मैंने दोबारा से उनको उठा के चोदा।। इस बार हम लंबी चुदाई किए।। मैंने उनको घोड़ी बनाकर चोदा फिर वो काउ गर्ल बन गई और मैंने उनके चूचे दबाते दबाते उनकी गांड़ को ऊपर नीचे किया।। कुछ देर बार मैं झड़ गया और आंटी से बोला के अब थकान हो रही है अब अगली बार मुलाक़ात पे आपकी हवस मिटाऊंगा और इतना कह के उनके चूत पे चूम लिया।।

आंटी ने भी मेरा वीर्य अपने मुंह मे ले लिया और अंत में मेरे लंड को सहला कर चूम लिया।। अगली सुबह मैंने तुरंत मार्केट जाके आंटी के लिए पारदर्शी ब्रा और पैंटी खरीद ली जो उनके बदन पर जाने के बाद और भी सेक्सी लगने वाले थे।। मैंने आके आंटी को एक कमरे में अकेले बुलाया और बोला के साड़ी उतार के ब्रा पैंटी दोनों पहनो।।

आंटी ने तुरन्त नंगे होकर मेरी दी हुई ब्रा पैंटी पहनी और मुझे दिखाया।। मैंने तुरन्त अपने मोबाइल फोन से उनकी कुछ तस्वीरें लेली तो उन्होंने पूछा ये किसी ने देखा तो, तो मैंने बोला के मेरा फोन कोई नहीं देखता फिर भी मैं इसको छुपा के रक्खुंगा और जबतक हम दोबारा नहीं मिलते तबतक आपके इसी बदन और पारदर्शी ब्रा पैंटी को देखकर हिलाऊंगा।।

कामुकता हिंदी सेक्स स्टोरी : Bhabhi Ke Sexy Boobs Aur Garam Chut Chusna Hai

उन्होंने बोला के हिलाने के लिए मै दूर से भी तुम्हारी मदद कर सकती हूं बेटे। उन्होंने बोला के रात में जब सो जाए तो मुझे १-२ के बीच वीडियो कॉल करना।। हम दोनों नंगे होकर एक दूसरे के साथ कुछ समय गुजारेंगे और मज़े करेंगे।। कुछ देर बाद आंटी जाने लगी तो मैंने मौका देख कर उन्हे एक झटके में अपने बांहों मे भरकर उनके होंठो को चूम लिया और गर्दन पे एक लव बाइट दे दिया जो हमारे पीछले रात के प्यार की निशानी थी।। “Desi Bathroom Sex”

आंटी के जाने के बाद मैं उनकी फोटो देखकर हिलाने लगा इतने में अचानक मुझे व्हाट्सएप पे एक मेसेज आया जो मेरे पड़ोसी का था।। उसने हमारे पीछले रात की छत की चुदाई की वीडियो बनाई थी और फ़्लैश लाइट से हमारी तस्वीरें ली थी।। वीडियो में साफ नज़र आ रहा था कि किस तरह मै ब्यूटी आंटी को चोद रहा था और वो मज़े मे आहें भर रही थी और कह रही थी आज की रात मेरे बरसो की चुदाई की तम्मना पूरी कर दो आयुष।।

मैं वीडियो देखकर दंग रह गया।। पड़ोसी ने धमकी दी कि अब वो औरत जब भी आएगी उसको वो भी चोदेगा वरना ये वीडियो मेरे घर वालो को दिखा देगा।। मैंने ये बात आंटी को बताई तो उन्होंने बोला के वो मेरे पड़ोसी से चुदने के लिए तैयार है क्यों कि और कोई रास्ता नहीं दिख रहा था।।

उन्होंने कॉल पे उस पड़ोसी से बात करके उसको आश्वासन दिया कि वो अगली बार आके सबसे पहले उससे ही चुदेंगी और उसको जितना मन वो उसको उतना चोद सकता है बशर्ते के वीडियो घर वालो के सामने ना आए।। मैंने भी हां में हां मिलाई पर मैंने पड़ोसी को बोला के ये औरत मेरी है तो सिर्फ कुछ दिन के किए आप इसको चोद सकते है फिर आपको वीडियो डिलीट करना पड़ेगा तो वो मान गया।। अब अगले कहानी मे आपको बताऊंगा कब वो आंटी दोबारा आती है और पड़ोसी के लंड की सवारी मेरे सामने करती है।

दोस्तों आपको ये Desi Bathroom Sex की कहानी मस्त लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और Whatsapp पर शेयर करे………….


Leave a Reply