Chachi Bhatija Sex Story – चाची की चूत में लंड घुसाना था


Chachi Bhatija Sex Story

हॅलो दोस्तो मेरा नाम रोहित है। मे 23 साल का हूं। तो आज में आपको मेरे चूदाई की कहाणी बताने जा रहा हूं। तो एक दिन मे अपने घर मे त्योहार होने के कारण पेंट कर राहा था। तो पेंट करते वक्त गलती से थोडा रंग TV पर लग गया तो मैने चाची से गिला कपडा मांग लिया । तो चाची ने मुझे गलती से उनका पुराना पैंटी दे दिया पोछने के लिये। Chachi Bhatija Sex Story

तो मुझे वह ठीक नही लगा । ऑर मेने खुद जाके दुसरा कपडा लिया । सब काम खतम होने के बाद। फ़्रेश होके मे सोने चला गया। चाची की पैंटी मेरेही पास थी। जैसे मेने उस पैंटी को देखा। मेरा लिंग टपकने लगा। ऑर अंजानें मे मैने पैंटी को चॅटकर मूठ मारा।

दुसरे ही दिन मे उठकर बोला ये मेरे से क्या गलती हो गया। चाची के पैंटी से मेने मूठ मारा। कितना गंदा काम किया मैने। पर मुझे बोहोत मजा आया था । ….फिर दोपेहर को मैं चाची के रूम मे पैंटी राखने गया । जैसी रात हो गई मेरे मन मे चाची के ही खयाला आने लगे।

मस्त हिंदी सेक्स स्टोरी : पापा के चुदाई की रफ़्तार से बेहाल हुई मैं

अब मे क्या करू जैसे मे चाची की पैंटी के लिये पागल हो राहा था। अब मेरेसे नहि राहा गया। मे रूम मे नंगा हो गया मे इतना पागल हो गया की दरवाजा भी खुला छोड दिया मैं जोर जोर से मूठ मारणे लगा। तभि चाची नहाके आ रही थी चाची ने मुझे देख लिया ऑर मेरा ध्यान भी नहीं था।

चाची मेरे उपर बोहोत चिल्लई ऑर मे जोर से उठ गया। चाची बोली ये क्या कर राहे हो पागल हो गये हो क्या। तुम कर रहे हो इससे कोई शिकायत्त नहीं। पर तुमने दरवाजा खुला ही छोड दिया। मेरी जंगा कोई ऑर देख लेता तो क्या करते।

चाची मुझे दाटते दाटते उनकी नजर मेरे खडे लंड पे गई। ऑर चूप हो गई जैसे मानो चाची ने ऐसा लंड पहले नही देखा हो। चाची अब उत्तेजित हो राही थी। चाची मेरे पास आई ओर प्यार से बोली । कोई बात नही मेरे बच्चे। चाची ने मुझे जोर से किस किया । ऑर बोली कितने छोटे थे तुम अब इतने बडे हो गये ।

चुदाई की गरम देसी कहानी : नामर्द पति की वजह से घर के बाहर मुंह मारना पड़ा

चाची को मेरा लंड अपनी चुत मे फसाना था …मैं समज चुका था। चाची ने मेरे अँखे बंद कर दी। ऑर मुझे बोली करलो तुम अपना काम मे चली। तो मैं मूठ मारणे लगा। चाची गई ऑर दरवाजे की कडी बंद करदी । ओर चुपके से आकार अपनी चुत मेरे होठी पे रंगडने लगी ।

चाची को चरमसुख चाहीये था मैं भी चूप चाप चाची के चुत का रस चाटणे लगा। चाची अपनी चूप रगडे ही जा रही थी । अब उस्को राहा नहीं गया मेरा पुरा लंड खाणे लगी। 10 मिन लंड चुसने के बाद मैं झड गया। लेकीन चाची का मन नहीं भरा था। चाची को मेरा गरम लंड अपनी नरम चुत मे चाहीये था ।

चाची पागल हो गई । मेरा कैसे भी करके लंड को फीर से जगा दिया । ऑर अब चाची मेरे उपर आगई लंड को चूप मे लेके जोर जोर से चिल्लने लगी । जैसे कोई गांड मार राहा हो। चाची बोली रोहित प्लिज तुम मुझे गाली देके चोदो ।ऑर मे उन्हे मजा देने लगा। ओह रंडी । रंडी साली चुतड साली बोलके मे चाची की चुत चोदता राहा।

मस्तराम की गन्दी चुदाई की कहानी : वासना में मेरे ब्लाउज पेटीकोट खुलने लगे

चाची उठ गई रोने लगी बोली ऐसा मजा मुझे पहले नहीं मिला। फिर मेने उनको जोर से बाहो मे लिया ऑर किस करता गया फिर । मुझे चाची की गांड मारने का मन किया । चाची को बोला मुझे आपकी गांड फाडनी है। लेकीन चाची बोली अगर तुझें गांड मारनि है, तो पहले मेरी गांड चाटनी पडेगी।

फिर क्या बेहिजक मे चाची की बडी गांड चाटने मे व्यस्त हो गया। चाची को स्वर्ग सुख की प्राप्ती हो राही थी। अब चाची की गांड चिकणी हो गई थी । मैने अपना लंड डाल दिया। स्लोवली अंदर बहार करने लगा । चाची बोली आज से मे ‘तेरी रांड हूं ।

तू मुझे बस चोदता रेह सारी उमर ऑर फीर चाची ने मुझे फिरसे अपने गांड मे झडवाया। अब मुझे बाथरूम जांना था ।लेकीन चाची ने मना कर लिया। बोली मुझे दे तेरा सारा पाणी ऑर वो अमृत जैसे मेरे लंड को मूह लगाकर पी गई। अब चाची का जभ भी मन करता है मेरे लंड की सवारी करती है। धीरे धीरे वो बच्चे बोलणं बंद कर दिया ऑर अब हं जमकर चुदाई के मझे लेते है।

दोस्तों आपको ये Chachi Bhatija Sex Story मस्त लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और Whatsapp पर शेयर करे………………

Leave a Reply