Bahan Sex Ka Tablet – दीदी और मौसेरी बहन दोनों को लंड चाहिए 7


Bahan Sex Ka Tablet

हाय दोस्तो मैं रियाज मेरी कहानी कैसी लगी मुझे जरूर बताएं. दोस्तों आपने मेरी कहानी के पिछले भाग दीदी और मौसेरी बहन दोनों को लंड चाहिए 6 में अभि तक आप लोगो ने पड़ा की मेरी सगी दीदी शाजिया की चूत चूस चूस के दीदी की मलाई खाया उसके बाद आगे की कहानी लिख रहा हूं. Bahan Sex Ka Tablet

दोस्तो शाजिया दीदी झड़ने के बाद बेहोश पड़ी रहीं मैं दीदी को देख के बहुत ज़्यादा खुश हुआ क्योंकि साजिया दीदी मेरे से दो साल बडी थीं और आज छोटा भाई इनकी चूत चुसाई से हालत खराब कर दीया था मुझे अपने ऊपर बहुत गर्भ महसूस किया और फिर शाजिया दीदी को अपने गोद मे उठा लिया और होटल रूम में नंगी ही सोला दीया और दादी की चूत को धीरे धीरे चाटने लागा.

दीदी बेसूध सोई थीं शाजिया दीदी कुछ भी हील डोल नहीं कर रहीं थीं मै थोरी देर में दीदी की चूत चुसाई करके चूत अंदर तक चमका दिया फिर देखा तब पाया कि मैने अपनी जीभ, होंठ और दांतो का इस्तेमाल करके शाजिया दीदी की चूत की धज्जिया उड़ा दीया था मुझे दुख भी हुआ लेकिन अब पस्तात हों क्या चिड़िया चुग गई खेत वही हाल दीदी के साथ हुआ था.

मेरे ऊपर आज भूत सवार था मै सेक्स पॉवर टैबलेट बीयर के साथ ले लिया था मुझे अभि चूत चाहिए था मैं जैसे ही पीछे मुड़ा मुझे नगमा बहन पानी से निकलकर, मेरे ओर आती दिखाई दी मैं नगमा बहन को देखता ही रहा गया क्या चाल थी साली रण्डी की तरह कमर लचका रहि थी.

मेरे पास आई और शाजिया दीदी को देखी ओर सेक्सी पोज़ मे खड़ी हो गयी और मुस्कुराते हुए बोली भाई जान कया चूत चुसाई किया इसेआज पूरा दीन होश नहींआयेगी साली पीने कोबेताब थीं अब नसे में सोई हुई है अब मुझेभी तसली हुईं शाजिया दीदी को नशा भी हों गाया था नगमा बहन मेरे पास आई और घुटनों केबल बैठ गई.

धीरे से मेरे लंड को मुठ्ठी में पकड़ी और किसी सेरनी की तरह ही झपट्टा मारकर अपने कब्ज़े मे ले लि मेरा लन्ड पहले से ही 8 इंच लम्बा था उसे पुरा अपनी मुंह में डाल के लटक लटक के चूस रही थी मैने इस रूप में नगमा बहन को पहले कभी नहीं देखा था मुझे लगा कि साजिया दीदी को देख के नगमा बहन भी डर जायेगी लेकिन यहां उलटा हो रहा था.

मस्त हिंदी सेक्स स्टोरी : Meri Ubhari Hui Chhati Ko Ghurta Rahta Hai Padosi

नगमा बहन पुरी नंगी थी और मुस्कुराते हुए लंड चूस रही थी मैंने भी नजमा के साथ देने लागा एकदम मस्त प्रोग्राम चल रहा था मेरे और मोसेरी बहन नगमा के बीच. वो अपनी गान्ड मटकाती हुई मेरे लंड से निकल रहे रस का अच्छे से मज़ा ले रही थी, मैने अपने बियर कॅन से दो बूँद अपने लंड पर टपका दी, जिसे उसने अपनी गर्म जीभ से सॉफ कर दिया.

ये एक ऐसी फेंटसी थी जिसके बारे मे मैं अक्सर सोचा करता था कि मैं अपनी गर्लफ्रेंड को कुतिया बनाकर अपना लंड चुसवाउन्गा और अपने लंड से लिसदी बियर पिलाउन्गा. शाजिया दीदी अपनी आँखे खोली और तिरछी नजरों से देख रहि थी वो शायद समझ चुकी थीं कि ये हमारा पहली बार नही है, वरना नजमा इतनी देर तक और इतनी आसानी से मेरा लंड ना चूस रही होती.

पर इस वक़्त ये सब समझने और समझाने का समय नही था, इसलिए वो फिर से अपनी आंखे बन्द कर ली अब मैने अपने सारे कपड़े निकाल दिए और अब मैं भी नगमा के सामने जन्मजात नंगा हो गया अब मेरे खड़े लंड को देख कर नगमा की चूत को फिर से रात वाली बात याद आ गयी, जब उसी कड़क लंड ने खुल्ली छत पर उस चूत को कमाल के मज़े दिए थे.

और एक बार फिर से वही फीलिंग लेने के लिए नगमा बहन अपनी जगह से खड़ी हुई और मुझे मेरे चेयर धकेल दीया और मेरी चेयर के दोनो तरफ अपनी पैर करके खड़ी हो गयी, मेरा लंड उनकी चूत से सिर्फ़ 4 इंच की दूरी पर था. नगमा ने अपने बूब्स मेरे मुँह मे ठूँसते हुए कहा : “आआअहह भाई चूसो इन्हे काट लो खा जाओ.”

उसके कहने का तरीका ही इतना उत्तेजक था कि मैं अपने आप पर काबू रख नही पाया और मैने अपने पैने दांतो से उसके बूब्स पर लगे लाल निप्पल्स कुतरने शुरू कर दिए. मेरा पुरा ध्यान एक बार फिर से नगमा बहन की बूब्स के तरफ आ गया, पर नगमा ने मेरे सिर को पकड़ कर फिर से अपनी मुंह में घुस्वा लिया.

और मुस्कुराते हुए बोली भाई जान मैं शाजिया दीदी नहीं हूं मैं नगमा बहन हूं आज तुम्हें एक सेरनी से पाला पड़ा है और सेरनी बहुत दर्द देती हैं कहते हुए मुस्कुराई और मेरे होंठो पर अपने नर्म होंठ रख दिए और उन्हे वो काफ़ी देर तक चूस्ति रही.. और साथ ही साथ वो अपनी चूत और मेरे लंड के गॅप को धीरे -2 कम करने लगी.

और अचानक मेरे लंड पर वही गर्म-2 नर्म-2 गीला सा एहसास हुआ जो कल रात को हुआ था, एक पल के लिए हमने स्मूच करना छोड़ दिया और एक दूसरे की आँखे मे देखा, दोनो तरफ प्यास सॉफ देखी जा सकती थी. नगमा बहन ने धीरे-2 मेरे लंड पर बैठकर उसे अपनी चूत के थ्रू निगलना शुरू कर दिया.

चुदाई की गरम देसी कहानी : Dost Ke Samne Sex Kiya Uski Bahan Ke Sath

उनकी आँखो मे अब भी हल्का दर्द देखा जा सकता था, पर उस दर्द के साथ -2 एक मज़ा भी था, जिसे महसूस करके उनके मुँह से सिसकारियाँ भी निकलने लगी.आहह उम्म्म्ममम यसस्स्स्स्सस्स.”हे आल्हा हे अम्मी जैसी आवाजे निकलने लगी और कुछ ही देर मे मेरा 8 इंच का लंड, नगमा की दो ही बार चुदि चूत के पूरा अंदर था.

नगम बहन ने मेरे कंधो को पकड़ा और मेरे लंड पर कूदने लगी. धीरे धीरे हम दोनो की सिसकारी निकलने लगी शाजिया दीदी सिसकारी सुनी तो मेरे लंड पर कूद रही नगमा बहन को देखी और उसकी हैरानी एक बार फिर से बढ़ गयी, उसने शायद सोचा नही था कि मैं अपनी खरे लंड पर नगमा बहन को चढ़ा के ऐसे उछाल उछाल के चोदूंगा.

लेकीन शाजिया दीदी की हिम्मत नहीं हुई की फिर से चुदवा सके लेकिन हमारी चुदाई देख कर शायद उनमे थोड़ी मुस्कुराहट सी आई इधर, नगमा तो पहले से ही तैयार थी, और वैसे भी, नगमा बहन मुझे पुरा साथ दे रही थी एक बेहन के लिए इससे अच्छी और बात क्या हो सकती है कि उसी का भाई जो उसे बेड पर लिटा दियाऔर उसकी मोसेरी बहन यउसी भाई की खटिया खड़ी कर रही हो.

यह साब देख के शाजिया दीदी मंद मंद मुस्कुरा रही थी इधर मैं चकित हो रहा था कि जिस नगमा बहन की चूत का उद्घाटन मैने किया और आज वही बहन मेरे साथ चैलेंज कर रहीं हैं नगमा ने साजिया दीदी की तरफ देखी जैसे उसकी इजाज़त माँग रहीं हो.

शाजिया दीदी ने हाँ मे सिर हिलाया और नगमा तुरंत खड़ी हुई मेरा लंड बाहर निकाल दी और हाथ बढ़ा कर फिर लंड पकड़ कर अपनी चूत पर लगा दि, और उसे एक ही झटके मे उस पर बैठ गई मेरा पूरा बदन हील गया नगमा अपने शरीर के पूरे भार के साथ अपनी नाज़ुक चूत के साथ मेरे खूँटे जैसा लंड, जो नगमा की चूत पर लगा हुआ था.

वो उसकी चूत को ककड़ी की तरह चीरता हुआ अंदर तक घुसता और फिर बाहर आता नगमा ने भी शायद ऐसा तरीका जान बुझ के करती रहीं ताकी मेरे लंड मे दर्द हो और हुआ भी ऐसा ही मुझे मेरे लंड मे दर्द होना चालू हो गया जब नगमा मेरे लंड पर बैठती मेरे सिसकारी निकलने लगे वो अपनी स्पीड बढ़ा दी और मेरे मुंह से अपनी मुंह लागा दी.

आचनक मेरे लंड से वीर्य की बौछार होने लगी मेरा सारा वीर्य नजमा कि बच्चेदानी में जाने लागा नगमा बहन और अपनी स्पीड बढ़ा दी और जोर आईईईई मररर्ररर गाइिईईईईई उफफफफफफफफ्फ़” उई अम्मी हे आल्हा उई मर गई करती रहीं और मेरे गले मे बाहे डालकर मुझे ज़ोर से पकड़ लिया, एक मिनट तक दोनो मे से कोई भी नही हिला.

फिर धीरे-2 नगमा ने ही अपनी चूत उपर की तरफ मटकाते हुए मेरे लंड का मज़ा लेना शुरू कर दिया. मैने भी अपनी स्पीड बढ़ा ली और अब वो आसानी से मेरे लंड को पूरा अंदर-बाहर निकाल कर उसे अच्छे से चोद पा रहीं थीं मुझे थोड़ी देर तक बहुत माजा आया लेकिन थोड़ी देर बाद जब चूत से वीर्य सुख गई तब मेरे लंड फिर से दर्द होना चालू कर दिया. “Bahan Sex Ka Tablet”

लेकिन नगमा बहन मजे से चुदवाती रही वो मुझे चोदने लगीं मै तुरंत बोला नगमा बहन कया कर रही हो मुझे मार डालेगी कया वो कुछ बोल नहीं रही थी और मुस्कुराते हुए और स्पीड बढ़ा दी और नगमा ज़ोर-2 से चुदाई करने मे बिज़ी थी. और अपने ऑर्गॅज़म के करीब भी थी.

और लगभग एक साथ ही हम दोनो भाई बेहन अपने-2 उत्तेजना से भरे ऑर्गॅज़म को महसूस करते हुए, एक दूसरे के लंड और चूतो मे झड़ने लगे. पूरे कमरे मे लंड से निकले पानी की खुश्बू तैर रही थी. हर तरफ प्यार ही प्यार बिखरा पड़ा था.

मस्तराम की गन्दी चुदाई की कहानी : Garam Padosan Sheela Ki Gumbadkar Gaand

उसके बाद नगमा मेरे ऊपर से उतर गईं और हम एक दूसरे की वीर्य निकल गई मेरा लन्ड पुरा लाल हो गया था और और नगमा बहन की चूत से बहुत सारा विर्य निकला अब नगमा मुस्कुराते हुए बोली भाई जान कैसी लगी छोटी सेरनी की शिकार मै तुरंत बोला नगमा बहन क्या खाई हो तुम मैंने झट से अपनी बात रखी की मैं चुदाई पॉवर टैबलेट लिया था तब भी तुम हरा दिया सही सही बताना तुम जरूर कुछ तो खाई हो.

और दोस्तो जो नगमा बहन ने बताया वो मै सुन कर सहम गया. एक दिन पहले जब मैने नगमा बहन को चोदा तभी उन्हें बहुत ज़्यादा दर्द हों गाया फिर नगमा बहन एक मेडिकल में जा के 10 टैबलेट दर्द की और 10 टैबलेट सेक्स पॉवर टैबलेट लिया और एक दर्द वाली टैबलेट खाई और बाकी अपनी पर्स में रख ली और जब मै शाजिया दीदी की चूत चाटने लागा.

उसी समय नगमा बहन दो दो टैबलेट ले लिया जब तक मेने शाजिया दीदी की चूत चाटने और काटने में जो टाइम लिया उतने समय में नजमा की दवा अच्छी तरह काम करने लागा उसी समय नगमा बहन मुझे चुदाई में मुझे सारा दी ये बात सुन के मुझे लगा कि नगमा बहन बहुत बड़ी चुदाकर बनेगी अभी भी नजमा फुल जोश में थी.

नगमा बहन दर्द की एक गोली शाजिया दीदी को भी खिला दिया इसके बाद हम तीनो एक साथ पूल मे उतर आए और एक दूसरे के साथ मस्तिया करने लगे. कुछ देर मे जब मेरा लंड दोबारा चूत मारने लायक हुए तो इस बार नगमा बहन फिर से मेरे पास आई और लंड को पकड़ लिया उतने में साजिया दीदी भी मेरे पास आई अब किसी को भी, किसी भी तरह की शर्म नही थी, सब आपस मे खुल से चुके थे.

वो चुदाई करने के बाद मेरी प्लानिंग का दूसरा स्टेप भी आया जब मैने नगमा से बोलकर, पापा को फोन करवा दिया कि हमारी गाड़ी खराब हो गयी है और इसलिए आज की रात हम वही रेस्पोर्ट मे रुक रहे है, पापा ने भी ज़्यादा कुछ कहा नही क्योंकि नगमा पर उन्हे पूरा भरोसा था, और अपनी गाड़ी की हालत भी उन्हे पता थी कि ऐसा हो भी सकता है, इसलिए उन्होने इजाज़त दे दी. “Bahan Sex Ka Tablet”

बस फिर क्या था, शाजिया दीदी मेरे लंड को मुंह में डाल लिया और चूसने लगी मैंने भी सेक्स पॉवर टैबलेट ले लिया था लेकिन नगमा बहन मेरी तरफ देखने लगी मैंने झट से अपनी ओर खींचा और मेरे ऊपर आते ही फिर से शुरू हो गया मूंह चुसाई मैं नगमा बहन की मुंह में जीभ डाल के होठों का रसपान करने लागा और साजिया दीदी मेरे लंड की रस निकालने लगी.

करीब 10 मिनट चुसने के बाद मैंने दीदी की मुंह में झर गया शाजिया दीदी सारा वीर्य निचोड़ दिया और मेरे लंड को छोर के रूम में जाने लगीं मै दीदी की मटकी चिकनी गांड देख के पागल जो रहा था लेकिन शाजिया दीदी देखते ही देखते रूम में चली गई अब मेरे साथ नगमा बहन गदराई सरीर की मालकिन मेरे ऊपर चढ़ गई सायद नगमा बहन फिर से मुझे हराना चाहती थी.

अबकी बार मैंने भी डिसाइड किया की नगमा बहन चूत और गांड दोनों चोदेंगे और ये पलान करके नगमा बहन को अपने ऊपर खींच लिया और अपने हाथों से लंड पकड़ लिया और नगमा बहन की चूत में सेट कर के एक जोरदार धक्का लगाया मेरा सारा लंड नगमा बहन की चूत में समा गया.

अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरीज : दीदी वासना में बिस्तर पर चूत रगड़ रही थी मैंने मदद कर दी

अब हम दोनों अपने कामों में लग गए जितना धक्का मैं निचे से लगता उससे ज्यादा तेज नगमा बहन ऊपर से लगाती अपनी कमर को किसी नागीन की तरह हिला रही थी मैं मैं अपनी मौसी की लड़की की ये जोश देख के मंद ही मंद मुस्कुरा दिया लेकिन नगमा बहन अपनी स्पीड बढ़ाते हुए और स्पीड से अपनी कमर हिलाने लगी. “Bahan Sex Ka Tablet”

अब मैं भी नगमा बहन की पर्स से दर्द वाली टैबलेट एक चोरी से निकाल लिया था और दो सेक्स पॉवर टैबलेट भी साथ में खा लिया था मुझे अब कोई दर्द नहीं हो रहा था ऊपर से शाजिया दीदी एक बार मैंने वीर्य निकल गई थी मैं दोनो साइड में फिट था लेकिन नगमा बहन अपनी पूरी ताकत झोंक दी अपनी कमर हिलाने में मै भी निचे से लागा रहा.

करीब 30 मिनट बाद नगमा बहन हाँफते हुईं मेरे ऊपर ढेर हो गई और मेरे मुंह में मुंह डाल दी और अपने आप को मेरे हवाले कर दी मै मुस्कुराते हुए पुछा क्या हुआ मेरी सेरनी को लगता है मेरी सेरनी बहुत ज़्यादा भाग दौड़ कर ली नगमा मेरे सीने से चिपक गई और गरम गरम सांसे छोड़ने लगी.

मैंने थोड़ी देर लंड को चूत में पेले रखा और जैसे ही नगमा बहन थोड़ी शान्त हुईं मेने तुरंत पलटी मारी और अब नगमा बहन मेरे निचे आगाई और मै ऊपर मैं सबसे पहले इनकी दोनो हाथ पकड़ के दोनो तरफ दबा दिया और धीरे धीरे लंड के झटके देने लागा अभी नगमा बहन की चूत में उनकी वीर्य भरा हुआ था.

मेरे हर झटके में पच पच कि आवाज करता और चूत से वीर्य निकलता करीब पांच मिनट तक पच पच पच कि आवाज आया उसके बाद नगमा बहन मचलने लगी शायद उनकी चूत सूखने लगा मेरा लन्ड पहले से ज्यादा तेज रफ्तार पकड़ लिया नगमा बहन बोली भाई जान आब छोर दो मुझे जालान हो रही है लेकिन मैं नगमा बहन की एक भी बात सुने बीना चोदता रहा.

करीब पांच मिनट और चोदने के बाद मैंने अपना मुंह उनकी बूब्स पर रख दिया और धीरे धीरे चाटने लगा मुझे बहुत ज़्यादा माजा आने लगा और करीब पांच मिनट और चोदने से नगमा बहन झार गई फिर से पच पच पच कि आवाज होने लगी अब नगमा बहन बोली भाई जान छोर दो अब मैं नहीं सह पाऊंगी चाहे तुम मुझे मुंह में दो मुंह से कर दुंगी.

मै बीना कुछ सुने लगातार चोदता रहा तभी अचानक से नगमा बहन जोड़ दिया और छुटने की कोशिश करने लगी मुझे बहुत गुस्सा आया और जोर से उनकी बूब्स को मुंह में डाल के चुसने लगा और साजिया दीदी की तरह दात चुभाने लागा नजमा बहन को अपने आप पर तरस आ रहा था. “Bahan Sex Ka Tablet”

लेकिन मैं नगमा बहन को चोदे जा रहा था करीब 20मिनट बाद नगमा बहन दुसरी बार झड़ने लगी और अपनी दोनो पैर मेरे कमर में लपेट ली मैं अभी भी नहीं झड़ा था मै नगमा बहन को देखता रहा वो मिनते करने लगी मैं फिर मुसकुरा के पुछा और मेरी शेरनी बहन कैसी लगी अब नगमा बहन मुस्कुराई और बोली भाई जान तुमने जरूर मेरी टैबलेट लिया है.

कामुकता हिंदी सेक्स स्टोरी : Sex Ka Invitation Diya Savita Bhabhi Ne

मैं भी नगमा बहन को बता दिया कि हा मै एक चुरा के खा लिया था अब हम दोनो उठे साजिया दीदी के पास पहुंचे और रात भर मजे लिए उस कमरे मे पूरी रात , वासना का नंगा नाच चला, कभी मैं पायल दी के साथ और कभी काजल के साथ, पूरी रात हम सोए नही, बस नंगे होकर सेक्स करने मे लगे रहे.

और सुबह करीब 5 बजे हम सो भी गये, ऐसे ही, नंगे. एक दूसरे की बाहों मे. अगले दिन हम सभी वापिस आ गये.पर अब हम सभी के बीच से शर्म की वो दीवार टूट चुकी थी, मैने तो पायल दी को सॉफ बोल दिया कि आज के बाद, जब भी मेरा मन करेगा, उनकी चूत मार लिया करूँगा मैं, जय और काजल ने भी इस बात को कबूल किया कि घर जाने के बाद भी, जब भी मौका मिलेगा, वो दोनो भाई बेहन भी आपस मे चुदाई कर लिया करेंगे. “Bahan Sex Ka Tablet”

और कभी ऐसा मौका मिला, जिसमे हम चारो आपस मे एक साथ मिले तो तब तो धमाल होना स्वाभाविक ही था. बंधुओ कैसी लगी ये रचना आपको अपने विचार ज़रूर रखें सभी बंधुओं से गुज़ारिश हैं कि सभी अपनी पसंद की कहानियाँ आरएसएस पर ज़रूर शेयर करें . अगर आप कहानी लिखना नही जानते तो कोई बात नहीं किसी भी रोमन या इंग्लिश कहानी को हिन्दीफ़ॉन्ट में परवर्तित कर सकते हैं.

दोस्तों आपको ये Bahan Sex Ka Tablet की कहानी मस्त लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और Whatsapp पर शेयर करे…………..


Leave a Reply